पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आंदोलन:शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त रखने और स्थाई तबादला नीति की मांग

नवलगढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चिड़ावा. एसडीएम को ज्ञापन देते एनटीटी संघ के प्रतिनिधि। - Dainik Bhaskar
चिड़ावा. एसडीएम को ज्ञापन देते एनटीटी संघ के प्रतिनिधि।
  • राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत ने नवलगढ़ विधायक डॉ. राजकुमार शर्मा को दिया ज्ञापन

राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत के प्रांतीय आह्वान पर शिक्षकों की 16 सूत्री मांग पत्र को लेकर जिला मंत्री जगदीश सिंह ढाका व उपशाखा मंत्री मनीराम के नेतृत्व में विधायक डा. राजकुमार शर्मा को ज्ञापन दिया गया। विधायक ने संगठन के मांग पत्र के सभी बिंदुओं पर संगठन के प्रतिनिधिमंडल से विस्तृत चर्चा की तथा मांग पत्र से मुख्यमंत्री को अवगत कराने एवं विधानसभा में पुरजोर मांग उठाकर शिक्षकों की वाजिब मांगों का निराकरण कराए जाने का आश्वासन दिया।

संगठन के जिला मंत्री जगदीशसिंह ढाका ने बताया की संगठन शिक्षकों की ज्वलंत मांगों को लेकर आंदोलनरत चल रहा है, जिसके पांचवें चरण में 10 से 18 जुलाई तक विधायकों को ज्ञापन दिए जा रहे हैं। हालांकि इस बीच सरकार ने उच्च माध्यमिक विद्यालय में उप प्रधानाचार्य का पद सृजित करने एवं कोरोना की आड़ में एक जनवरी 2020 से 30 जून 2021 तक के रोके गए महंगाई भत्ता के भुगतान के आदेश जारी करने व पीडी हेड का बजट एकमुश्त जारी कर सकारात्मक निर्णय लिए हैं, लेकिन मांग पत्र की अन्य मांगें अभी भी लंबित हैं।

संगठन के उपशाखा मंत्री मनीराम ने बताया कि शिक्षकों के स्थानांतरण के लिए स्थाई स्थानांतरण नीति बनाकर सभी संवर्ग के शिक्षकों के स्थानांतरण किए जाए। नई पेंशन योजना एनपीएस के स्थान पर पुरानी पेंशन योजना लागू की जाए, शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त करने शिक्षकों को 7, 14, 21, एवं 28 वर्ष की सेवा पर चयनित वेतनमान दिए जाने सहित 16 सूत्री मांग पत्र को लेकर ज्ञापन दिया गया। इस मौके पर कोषाध्यक्ष मौजीराम, संयोजक संघर्ष समिति नरेश चौधरी, नंदकिशोर, प्रतापसिंह, शक्ति सिंह, महिपालसिंह, बीरबलसिंह यादव, युद्धवीरसिंह, सतीश कुमार, योगेश कुमार, संदीप कुमार, देवानंद, मूलचंद, प्रवीण कुमार व शंकरलाल आदि मौजूद थे।

वेतन बढ़ोतरी और पदोन्नति की मांग, एनटीटी संघ ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

चिड़ावा | राज्य पूर्व प्राथमिक शिक्षक संघ (एनटीटी संघ) से संबद्ध शिक्षकों ने मंगलवार को यहां एसडीएम संदीप चौधरी को सीएम अशोक गहलोत के नाम ज्ञापन सौंपा। शिक्षकों ने वेतन, पदोन्नति, सेवा नियम और टीएसपी क्षेत्र से स्थानांतरण संबंधी विसंगतियां दूर करने की मांग उठाई। मुख्यमंत्री से द्विवर्षीय शिक्षक प्रशिक्षण की योग्यता पर आधारित पूर्व प्राथमिक शिक्षकों और तृतीय श्रेणी अध्यापक लेबल प्रथम की एक समान योग्यता होने के बाद भी वेतन शृंखला ग्रेड पे में बड़ी विसंगति है। पिछले आठ वर्ष से सेवारत पूर्व प्राथमिक शिक्षक पदोन्नति से भी वंचित है। उन्होंने मांगपत्र की चार सूत्री मांगों को जल्द पूरा करवाने का आग्रह किया है। मांगपत्र देने वालों में संघ के वरिष्ठ सदस्य अमित कुमार, कमलेश कुमारी, वंदना, ममता, अलका, अनिता, ललिता, अनिता कुमारी शामिल थे।

मलसीसर | उपप्रधानाचार्य संघर्ष समिति ब्लॉक अलसीसर, झुंझुनूं के बैनर तले राजस्थान शिक्षा सेवा नियमों में संशोधन का विरोध कर 50 प्रतिशत उपप्रधानाचार्य सीधी भर्ती के लिए मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन एसडीएम शकुंतला चौधरी को सौंपा। ज्ञापन के बाद आज मलसीसर उपखंड मुख्यालय पर उप प्रधानाचार्य पद पर 50% सीधी भर्ती हेतु अलसीसर ब्लॉक की संघर्ष समिति का गठन किया गया। संघर्ष समिति का संयोजक विक्रम सिलाईच, सह संयोजक इस्माइल खान को बनाया गया। राजेश कुमार हरिपुरा व सूबेसिंह को संरक्षक बनाया गया।

संघर्ष समिति संयोजक ने बताया कि राजस्थान सरकार हमारी मांग नहीं मानती है तो आगे बड़ा आंदोलन किया जाएगा। जयपुर में भी ब्लॉक अलसीसर से शिक्षक साथी जायेगे। इस दौरान सूरजभान सिंह, बंशीधर जांगिड़, संजय श्योराण, अमित शर्मा, कमल शर्मा, इमरान खान, विक्रम डांगी, विनोद भड़िया, प्रशांत जांगिड़, महेश जांगिड़, राकेश भूरिया, शेरसिंह जांगिड़, जावेद इकबाल, राजेश डारा, शेरसिंह मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...