वट सावित्री / अखंड सौभाग्य के लिए महिलाओं ने की वट की पूजा, बड़ के पत्तों के गहने बना कर पहने

X

  • प्राचीन बड़ के चारों ओर मौळी बांध कर सुखद एवं सफल दाम्पत्य जीवन की प्रार्थना की

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:43 AM IST

झुंझुनूं. शहर में शुक्रवार को महिलाओं ने बड़ अमावस्या का लोक पर्व मनाया। पति की दीर्घायु की कामना करते हुए बड़ की पूजा की। कहानी सुन कर भोजन किया। सुबह करीब छह बजे से ही महिलाएं बड़ तक पहुंचने लगी थी। महिलाओं ने बड़ का विधिवत पूजन किया। पति की लंबी उम्र की कामना की। इस प्राचीन बड़ के चारों ओर मौळी बांध कर सुखद एवं सफल दाम्पत्य जीवन की प्रार्थना की। महिलाओं ने इस मौके पर बड़ के पत्तों से नाक, कान के आभूषण बना कर पहने। पायजेब व मंगलसूत्र में भी पत्ते बांधे। ऐसा करना शुभ माना जाता है। दोपहर बाद महिलाओं ने कहानी सुनी। एक दूसरे को प्रसाद बांट कर भोजन ग्रहण किया। शहर में अनेक स्थानों पर मंदिरों, आश्रमों में जहां भी बड़ है, वहां जाकर पूजा की। ऐसा मान्यता है कि बड़ की उम्र बहुत होती है। इसलिए महिलाएं बड़ का पूजन कर अपने पति की आयु बड़ जितनी हो, इसकी कामना करती हैं।
खिरोड़. कस्बे सहित आस-पास के गांव बसावा, झाझड़, बारवा, चैनगढ़, मोहनबाड़ी सहित विभिन्न स्थानों पर शुक्रवार को अमावस्या के दिन महिलाओं ने वट वृक्ष की पूजा अर्चना की। इस दिन महिलाओं ने वट सावित्री व्रत रखा। महिलाओं ने दान पुण्य किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना