पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इस महीने में कई बड़े व्रत व त्योहार:गंगा दशहरा व निर्जला एकादशी इसी महीने में, जल दान का है विशेष महत्व

इस्लामपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अभी ज्येष्ठ माह चल रहा है जो 27 मई से शुरू हो चुका है और 24 जून तक चलेगा। इस महीने में कई बड़े व्रत व त्योहार आएंगे। पंडित विनोद कुमार शर्मा ने बताया कि हिंदू पंचांग के अनुसार ज्येष्ठ साल का तीसरा महीना होता है। इसे दान-दक्षिणा और जरूरतमंदों की मदद का महीना कहा जाता है। इस महीने में विशेष रुप से जल व सूर्य से जुड़े व्रत और त्योहार मनाए जाते हैं।

सूर्य की ज्येष्ठता के कारण इस महीने को ज्येष्ठ कहा जाता है। इस महीने में भीषण गर्मी पड़ती है और नौतपा के चलते तेज और गर्म हवाएं चलती हैं। हालांकि इस बार तूफान के कारण नौतपा के दौरान भी मौसम सामान्य रहा।

जल संरक्षण का महीना है ज्येष्ठ : धार्मिक मान्यता के अनुसार ज्येष्ठ का संबंध जल से है इसलिए इस महीने में ज्यादा से ज्यादा जल का संरक्षण करना चाहिए। भीषण गर्मी के चलते इस महीने में पृथ्वी से जल भाप बनकर उड़ जाता है और तालाब व बावडिय़ां सूख जाते हैं जिससे मनुष्यों व पशु-पक्षियों को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसलिए शास्त्रों में इस महीने में जल संरक्षण करने पर विशेष जोर दिया गया है।

जल व ठंडी वस्तुओं के दान का है विशेष महत्व : शास्त्रों में इस महीने में जल व ठंडी वस्तुओं के दान का विशेष महत्तव बताया गया है। इसलिए लोग गोचर व खेळी में पानी डलवाते हैं, राहगीरों को शर्बत पिलाते हैं, जगह-जगह प्याऊ लगाते हैं और मटकियां व पंखे आदि का दान करते हैं। गंगा नदी में स्नान करने पर विशेष फल मिलता है।

खबरें और भी हैं...