पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मांग:सरकारी स्कूलों में होमवर्क दे रहे हैं तो उन्हें भी अनुमति दें सरकार

खिरोड़16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
परसरामपुरा में विधायक को ज्ञापन देते हुए निजी स्कूल संचालक। - Dainik Bhaskar
परसरामपुरा में विधायक को ज्ञापन देते हुए निजी स्कूल संचालक।
  • निजी स्कूल संचालकों ने नवलगढ़ विधायक डॉ. राजकुमार शर्मा को मांगों का मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया

निजी शिक्षण संस्थान संघ नवलगढ़ की ओर से मंगलवार को नवलगढ़ विधायक डॉ. राजकुमार शर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर मांगे पूरी किए जाने की मांग की है।

परसरामपुरा के शास्त्री फार्म हाउस पर चल रहे जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान निजी स्कूल संघ के अध्यक्ष सुरेश नेहरा एवं सचिव अनिल शर्मा के नेतृत्व में विधायक को मुख्यमंत्री के नाम सौंपे गए ज्ञापन में बताया कि आरटीई की पुनर्भरण राशि समय पर दिए जाने, बिना टीसी के दूसरी स्कूल में प्रवेश पर रोक लगाने और बच्चों के भविष्य को देखते हुए स्कूलों को खोलने की मांग की।

इन्होंने कहा कि क्षेत्र के सरकारी विद्यालयों में स्कूल खोल कर बच्चों को स्कूलों में बुलाकर उन्हें होमवर्क दिया जा रहा है जो गाइड लाइन का उल्लंघन है।

ऐसे में निजी स्कूलों को भी खोलने की अनुमति दी जाए। साथ ही स्कूलों के बिजली एवं पानी के बिल भी माफ करने, बाल वाहिनी की इंश्योरेंस एवं परमिट की समय अवधि बढ़ाने की मांग भी की। ज्ञापन सौंपने वालों में संघ के उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार दायमा, सुभाष बुगालिया, धर्मपाल बुगालिया, मनोज कुमार यादव, राजकुमार सैनी, सुनील शर्मा, हजारी लाल यादव, रमाकांत दाधीच, बीरबल राम रणवा, सुभाषचंद्र महण, दीपचंद कुलदीप, मोहम्मद जमीर आरिफ,आलोक सैनी, विक्रम सिंह विद्याधर गुर्जर, जय सिंह डूडी, कपिल चौधरी, रविन्द्र शर्मा, राजेंद्र सैनी, सौरभ कुमार, अटल बिहारी सैनी, शिव कुमार आदि मौजूद थे।

बिना टीसी प्रवेश दिया तो कोर्ट में दायर करेंगे याचिका

सरकारी विद्यालयों द्वारा बिना किसी दस्तावेज टीसी के लिए जा रहे प्रवेश पर भी रोक लगाए जाने की मांग की है ताकि निजी विद्यालयों को फीस मिल सके। सरकारी विद्यालय बिना टीसी के सिर्फ उन्हीं बच्चों के एडमिशन ले सकते हैं जो प्रवासी बच्चे एवं ड्रॉप आउट हुए बच्चे हो, यदि ऐसा कोई सरकारी स्कूल बिना टीसी एडमिशन करेगा तो उनके विरुद्ध न्यायालय में वाद दायर किया जाएगा। बच्चों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए दूसरे राज्यों में स्कूलों को खोल दिया गया है, इसी प्रकार प्रदेश में भी स्कूलों को खोले जाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...