पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना अपडेट:संक्रमण 2% से नीचे आया, दूसरे सप्ताह में 146 केस मिले, केवल एक मौत

झुंझुनूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में कोरोना की दूसरी लहर का असर कम होता जा रहा है। जून के पहले हफ्ते के मुकाबले दूसरे हफ्ते में संक्रमण की दर 2 फीसदी से नीचे चली गई है। जो जिले के लिए काफी राहत की बात है। जून के दूसरे सप्ताह के सात दिन में केवल 146 पॉजिटिव के आए। वहीं कोरोना से होने वाली मौतें भी रुकी हैं। दूसरे हफ्ते में केवल एक कोरोना मरीज की जान गई।

चिकित्सा विभाग से मिले आंकड़ों को देखें तो जून के पहले सप्ताह में 1 से 7 जून के बीच 310 कोरोना मरीज मिले थे और संक्रमण की दर 3.38 फीसदी रही थी। दूसरे सप्ताह में 8 से 14 जून के मध्य 146 नए पॉजिटिव मिले हैं। दूसरे हफ्ते में संक्रमण की दर 1.94 फीसदी रही। चिकित्सा विभाग ने 1 से 7 जून के बीच 9158 सैंपल लिए थे। जिनमें 310 केस मिले। तो वही 8 से 14 जून के दौरान 7502 सैंपल लिए गए। जिनमें 146 संक्रमित मिले हैं।

14 दिन में 456 केस मिले और 5 मौत हुई
जून की बात करें तो 1 से 14 जून के बीच जिले में 456 कोरोना मरीज मिले हैं और पांच मौत हुई हैं। पहले सप्ताह में चार तथा दूसरे सप्ताह में एक मौत हुई है। 14 दिन में चिकित्सा विभाग ने 16660 सैंपल लिए हैं। मई की तुलना में जून में संक्रमण की दर 2.73% हो गई है।

मई में कोरोना से होने वाली मौतों ने कोहराम मचा दिया था। पहले जहां हर सप्ताह 18 से 20 मौतें हो रही थी। वह घटकर एक पर आ गई है। जून के पहले सप्ताह में चार कोरोना मरीजों की मौत हुई। तो दूसरे सप्ताह में केवल एक मौत हुई है। पिछले चार दिन से एक भी कोरोना मरीज की जान नहीं गई।

एंटीजन में भी संक्रमण 1.37% रहा
जिले में चिकित्सा विभाग ने आरटीपीसीआर टेस्ट के साथ रैपिड एंटीजन टेस्ट भी शुरू कर रखे हैं। जून महीने के 14 दिनों में विभाग ने 3990 रैपिड एंटीजन टेस्ट किए हैं। इनमें 90 संक्रमित मिले हैं। जून के पहले हफ्ते में 2177 एंटीजन टेस्ट में 65 संक्रमित मिले थे। यानी संक्रमण की दर 2.98% रही थी। वही दूसरे सप्ताह में 1813 एंटीजन टेस्ट में 25 पॉजिटिव मिले हैं और पॉजिटिविटी रेट 1.37% रही।

संक्रमण कम हो गया, पर सावधानी बरतें
जून के पहले हफ्ते की तुलना में दूसरे हफ्ते में संक्रमण काफी कम हो गया है, लेकिन जिलेवासियों को कोरोना को लेकर लापरवाही नहीं करनी है। मास्क लगाने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग रखें। जिसे तीसरे लहर की आशंका को कम किया जा सके।-डॉ. छोटे लाल गुर्जर, सीएमएचओ

खबरें और भी हैं...