पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

साइबर क्राइम:ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले बढ़े, बचने के लिए ओटीपी का विकल्प चुनें, अनजान लिंक पर कभी भी क्लिक ना करें

झुंझुनूं2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किसी के साथ शेयर नहीं करें अपना ओटीपी
  • लगातार बढ़ रहे ऑनलाइन ठगी के मामले, एसपी ने जारी की एडवाइजरी-सावधानी बरतेंगे तो बच सकेंगे ठगी से

वैसे तो ऑनलाइन ठगी के मामले लंबे समय से चले आ रहे हैं, लेकिन पिछले कुछ दिनों से इनमें बढ़ोतरी हुई है। जिसका सबसे बड़ा कारण अधिकांश लोगों का ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से जुड़ना है, लेकिन जिस तरह से लोग इनका उपयोग कर रहे हैं। उतनी अधिक जागरुकता अभी है नहीं और आमजन बड़ी आसानी से साइबर अपराधियों का शिकार बन जाते हैं।

इस तरह के मामलों में ठगी करने वाले मिनटों में बैंक खातों से लाखों रुपए पार कर लेते हैं। सबसे बड़ी चिंता की बात ये है कि इन मामलों में रिकवरी भी नहीं हो पाती। ऐसे में पुलिस अधीक्षक जगदीशचंद्र शर्मा ने जिलेवासियों के लिए अपील जारी की है। जिसमें उन्होंने बताया कि साइबर अपराधी कैसे क्राइम करते हैं और कैसे उससे बचा जा सकता है। यह सावधानियां बरतेंगे तो आप कभी भी धोखाधड़ी के शिकार नहीं होंगे

टू फैक्टर ऑथेंटिफिकेशन का विकल्प जरूर चुनें

  • साइबर धोखाधड़ी से बचने का सबसे बेहतरीन उपाय यही है कि बैंक आदि में आपने जो मोबाइल नंबर दे रखा है। उस सीम को एंड्राइड मोबाइल की जगह सामान्य मोबाइल में रखें। जिस पर इंटरनेट की सुविधा ना हो।
  • आपकी ई मेल आदि के लिए टू फैक्टर ऑथेंटिफिकेशन का विकल्प चुनें। यह सबसे सेफ तरीका है। यानी सोशल मीडिया अकाउंट पर लॉगिन के लिए हर बार ओटीपी आएगा। इससे अपराधियों को यदि आपका पासवर्ड भी पता है तो वे कुछ नहीं कर सकते।
  • अनजान मेल को ओपन ना करें। इसी तरह मोबाइल पर आने वाले अनजान लिंक पर भी क्लिक ना करें।

फ्री वाईफाई और दूसरों के कंप्यूटर में नेट बैंकिंग से बचें

  • किसी भी एप को ओपन करने के लिए फेसबुक आईडी का उपयोग कभी नहीं करना चाहिए, इसी से ठग आपकी जानकारी जुटाते हैं।
  • फ्री वाई फाई का कभी उपयोग ना करें। इससे हैकर्स आपके पासवर्ड को आसानी से चुरा सकते हैं। वे इसकी कॉपी कर हैकिंग कर लेते हैं और आपको ठग लेते हैं।
  • इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करते हैं तो केवल खुद के लैपटॉप या कंप्यूटर पर ही उसे लॉगिन करें। ऑफिस या अन्य किसी के कंप्यूटर पर इसका उपयोग ना करें। दूसरे कंप्यूटर से लॉगिन करने पर कई बार पासवर्ड चुरा लिया जाता है और ठगी का शिकार हो जाते हैं।

ई मेल व अकाउंट आदि का पासवर्ड कभी एक नहीं रखें

  • अपने सभी अकाउंट, ई मेल, मोबाइल आदि का एक ही पासवर्ड ना रखें। सभी के अलग-अलग पासवर्ड रखें। अन्यथा अपराधियों को एक पासवर्ड पता लगते ही वे बाकी अकाउंट भी आसानी से ओपन कर लेंगे और कभी भी ठगी का शिकार हो सकते हैं।
  • हमेशा मजबूत पासवर्ड दें। उसमें अल्फाबेट, नंबर और विशेष नंबरों का उपयोग करें। कभी भी अपनी जन्मतिथि, नाम व मोबाइल नंबर आदि को पासवर्ड नहीं बनाएं। पासवर्ड हमेशा आठ शब्दों से बड़ा होना चाहिए।
  • हर तीन माह में अपने पासवर्ड बदलते रहें। हर बार नया पासवर्ड ही दें। पिछले पासवर्ड में से कोई नंबर आदि वापस उपयोग ना करें।

नौकरी, लॉटरी, मदद आदि के नाम पर होती है धोखाधड़ी, झांसे में न आएं

  • देश में कहीं भी कोई भी बैंक आपको फोन करके आपके खाते और एटीएम कार्ड की डिटेल नहीं मांगता है। इसलिए इस तरह का कोई भी फोन आए तो अकाउंट विवरण, एटीएम कार्ड नंबर, पिन नंबर, सीवीसी नंबर तथा ओटीपी आदि की जानकारी ना दें।
  • किसी भी तरह के सोशल प्लेटफॉर्म पर खरीददारी करते हैं तो पेमेंट ऑन होम डिलेवरी का ऑप्शन चुनें। होम डिलेवरी के समय जब तक सामान न देख लें तब तक पैसा न दें। सामान लेते वक्त उसकी व्यक्तिगत फोटो आईडी की फोटो काॅपी जरूर लें।
  • आर्मी पर्सन के नाम भी ऑनलाइन ठगी होती है। सामने वाला खुद को आर्मी पर्सन यानी सेना से जुड़ा बताता है और आपसे एडवांस पैसा मांगता है। ऐसे मामलों में सचेत रहें।
  • यदि आप किसी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से सामान बेचने का कार्य करते हैं तो सामने वाले की ओर से पेमेंट के लिए भेजे गए किसी लिंक पर पूरी तसल्ली किए बिना भरोसा ना करें।
  • एटीएम का प्रयोग करते समय बूथ में आप अकेले रहें। अन्य कोई व्यक्ति वहां खड़ा है या आपके बाद अंदर आता है तो उसे मना करें। साइबर अपराधी कई बार एटीएम में स्केमर लगाकर आपका डाटा चुरा लेते हैं।
  • अक्सर सोशल मीडिया पर इस तरह के लिंक आते हैं। जो समझ में नहीं आते। इस तरह के लिंक को आप शेयर ना करें और ना ही उन पर क्लिक करें।
  • आजकल कई तरह के स्क्रीन शेयर एप और सोफ्टवेयर भी उपयोग में लाए जाते हैं। साइबर अपराधी आपको इन एप व सोफ्टवेयर का उपयोग करने के लिए कहते हैं। इनका उपयोग करने से बचें।
  • इंटरनेट पर सर्च करने पर बहुत सी कंपनियों के नाम पर फर्जी वेबसाइट व हैल्पलाइन नंबर भी होते हैं। फर्जी नंबर के जरिए अपराधी आपको एक ओटीपी भेजते हैं और फिर आपके खाते से पूरा पैसा गायब कर लेते हैं।
  • लॉटरी, ईनाम, मकान, गाड़ी निकलने, नौकरी या लोन के नाम पर यदि कोई फोन पर आपको पैसे जमा करवाने के लिए कहता है तो समझ जाइए कि वह साइबर अपराधी है और आपसे धोखाधड़ी कर रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser