डिस्कॉम श्रमिक संघ का विरोध:निगम में ठेका प्रथा बंद करने की मांग, कलेक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन

झुुंझुनूं18 दिन पहले
विद्युत निगम श्रमिक संघ का वि�

झुंझुनूंअजमेर विद्युत वितरण निगम श्रमिक संघ की ओर से विभिन्न मांगों को लेकर विद्युतकर्मियों ने झुंझुनूं कलेक्ट्रेट पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान विद्युत कर्मियों ने विद्युत निगमों में ठेका प्रथा व विभिन्न तरीके से किए जा रहे निजीकरण का जमकर विरोध किया गया। आक्रोशित विद्युत कर्मियों ने सरकार के निजीकरण के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए इस फैसले को तुरन्त बदलने और बिजली कर्मियों की भर्ती करने सहित विभिन्न मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। बिजली कर्मियों का आरोप था कि बिजली महंगी होने के साथ ही श्रमिकों से काम छीना गया है।

श्रमिक संघ की ये हैं महत्वपूर्ण मांग
श्रमिक संघ लंबे समय से विद्युत निगमों में एमडी के पद पर आईएएस अधिकारी लगाने, नई भर्ती निकालने, अधिमानता के आधार पर वर्ष 1996 से 2019 तक नियुक्त सहायक प्रथम को राज्य सरकार के मान शैक्षिणिक योग्यता के अनुसार निगम में लिपिक बनाने सहित अन्य मांग कर रहा है।

जिले की जनता का मिला साथ

प्रदर्शन की खास बात ये रही कि इसमें भाजपा नेता बबलू चौधरी के नेतृत्व में जिले के बड़ी संख्या में आमजन भी शामिल हुए। इस दौरान बबलू चौधरी ने कहा कि विद्युत कर्मियों के साथ अन्याय के साथ ही ठेका प्रथा के तहत आमजन को भी लूटा जा रहा है। अगर ठेका प्रथा बन्द नहीं की गई तो बड़ा आंदोलन होगा।

38 दिन से चल रहा है विद्युतकर्मियों का धरना
झुंझुनूं में विद्युत निगम की ठेका प्रथा व अन्य मांगों को लेकर एसई कार्यालय में करीब 38 दिन से विद्युतकर्मी धरना दे रहे हैं। इस दौरान उन्होंने एक सद्बुद्धि यज्ञ भी दिया। लेकिन विद्युत निगम ने अब तक इनकी मांगों पर विचार नहीं किया गया।