किले पर दूल्हे के चढ़ने का मामला:6 घंटे पुलिस प्रशासन को छकाने वाले दूल्हे के खिलाफ पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया, बिना कार्रवाई के छोड़ा

झुंझुनूं6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी दूल्हा दिनेश कुमावत - Dainik Bhaskar
आरोपी दूल्हा दिनेश कुमावत

झुंझुनूं में खेतड़ी के भोपालगढ़ किले की दीवार पर चढ़कर 29 नवंबर को एक दूल्हे ने परिजनों को सुसाइड की धमकी दी। 6 घंटे बाद दूल्हे को पुलिस ने किले से सकुशल उतारकर घर वालों को सौंप दिया। लेकिन खेतड़ी नगर थाना पुलिस ने इस मामले में आरोपी दूल्हे के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। पुलिस ने सुसाइड की धमकी देने वाले दूल्हे दिनेश कुमावत के खिलाफ न कोई मामला दर्ज किया। न ही शांतिभंग में गिरफ्तार किया।

दैनिक भास्कर ने जब खेतडी थानाधिकारी विनोद सांखला से बात की तो उन्होंने बताया कि प्रशासनिक अधिकारी मौके पर मौजूद थे। कार्रवाई की बाद उनसे पूछिए। युवक ने सुसाइड करने का प्रयास किया या धमकी दी ऐसा उन्हे प्रतीत नहीं हुआ। उसके बाद विनोद सांखला ने फोन काट दिया। जबकि मौके पर 6 घंटे तक पुलिस युवक को उतारने का प्रयास करती नजर आ रही थी। मीडिया को दी गई बाइट में भी विनोद सांखला ने माना कि पुलिस का भारी अमला मौके पर तैनात था। डीएसपी विजय कुमार और तहसीलदार विवेक कटारिया समेत पुलिस के कई जवान मौजूद थे। विनोद सांखला ने मीडिया को दी बाईट में बताया कि पुलिस ने किले पर चढ़े युवक को उतारने के लिये उसकी मां को बुलाया और जब दूल्हे की मां ने मरने की धमकी दी तब युवक को नीचे उतारा गया।

पुलिस के आला अधिकारियों ने भी माना मामला दर्ज होना चाहिए था

झुंझुनूं पुलिस के आला अधिकारियों से जब दैनिक भास्कर ने बात की तो उन्होंने भी माना कि इस मामले में युवक के खिलाफ पुलिस को मामला दर्ज करना चाहिए था। पुलिस मामला दर्ज भी न करती तो ऐसे मामले में शांतिभंग में गिरफ्तार कर सकती थी। पुलिस ने उसे बचाने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की। इस मामले में एसएचओ खेतडी की भूमिका संदिग्ध नजर आ रही है।

ये था मामला

झुंझुनूं के खेतड़ी नगर थाना इलाके के बीलवा गांव निवासी एक युवक 29 नवंबर को शादी के कुछ घंटों बाद ही घर से निकल गया। लाके में स्थित भोपालगढ़ किले की दीवार पर चढ़कर परिजनों को सुसाइड की धमकी दी। उसके बाद परिजनों ने तुरंत पुलिस को सूचना दी। भोपालगढ़ किले पहुंचे। सूचना पर खेतड़ी थानाधिकारी विनोद सांखला,डीएसपी विजय कुमार और तहसीलदार विवेक कटारिया भी मौके पर पहुंचे। युवक से समझाइश कर नीचे उतारने का प्रयास किया। पुलिस के जवान जब युवक को उतारने के लिए उसकी तरफ बढ़े तो उसने परकोटे की दीवार से कूदकर जान देने की धमकी दी। किसी के पास आने पर बार-बार युवक चारदीवारी से कूदकर जान देने की धमकी दे रहा था। पुलिस और परिजनों ने युवक से 6 घंटे की समझाइश की। 6 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद समझाइश कर युवक को देर रात 11 बजे पहाड़ी से नीचे उतारा गया।

खबरें और भी हैं...