राम भक्ति:बगड़ के ‘रावण’ ने पत्नी की याद में बनवाया राम दरबार

बगड़2 महीने पहलेलेखक: आलोक सोनी
  • कॉपी लिंक
  • रामलीला में 42 साल से रावण बनने वाले शिव भगवान शर्मा करते हैं राम की पूजा

रामलीलाओं में रावण की भूमिका निभाने वाले कलाकारों को लेकर अक्सर लोगों के मन में नकारात्मक छवि बनती है, लेकिन असल जिंदगी में यह कलाकार खुद भगवान राम जैसे ही आदर्शों को अपनाते हैं। ऐसे ही एक कलाकार हैं बगड़ के शिवभगवान शर्मा। जो बगड़ में श्री श्याम मंडल की ओर से मंचित रामलीला में 42 साल से रावण का किरदार निभा रहे हैं।

रामायण के रावण ने पर स्त्री के मोह में स्वयं की पत्नी की भी नहीं सुनी और वह भगवान राम का भी विद्रोही हो गया, लेकिन उससे ठीक उलट रावण की भूमिका निभाने वाले शिवभगवान ना केवल राम के भक्त हैं बल्कि उन्होंने अपनी पत्नी की याद में एक प्रवेश द्वार बनवाया। जिस पर श्रीराम दरबार की प्रतिमा लगी है। कस्बे में 44 साल पहले बीएल चौक स्थित मांगीलालजी की धर्मशाला में रामलीला का मंचन शुरू हुआ। इसमें पिछले 42 साल से शिवभगवान रावण का किरदार निभा रहे हैं।

अगस्त 2018 में रावण का किरदार निभाने वाले शर्मा की पत्नी शकुंतला का आकस्मिक निधन हो गया। इसके दो माह बाद ही रामलीला का मंचन होना था। पत्नी के निधन से दुखी शिवभगवान एक बार तो इसके लिए तैयार नहीं हुए, लेकिन फिर रामलीला कमेटी के सदस्यों ने उन्हें समझाया और उन्होंने यह किरदार निभाया। उन्होंने पत्नी की स्मृति में 2020 में रामलीला मैदान के प्रवेश द्वार का निर्माण करवाया। जिस पर राम दरबार की प्रतिमा लगी है।

रामलीला मंचन से पूर्व करते हैं भगवान श्रीराम की पूजा
रामलीला के मंचन में जाते समय शर्मा घर पर भगवान राम का पूजन करते हैं। मंच पर जाने से पूर्व भगवान राम का स्मरण कर अभिनय के लिए मंच पर कदम रखते हैं। वे बताते हैं कि 42 साल से मैं रावण का किरदार करता आ रहा हूं। यह बहुत मुश्किल किरदार होता है, लेकिन यह भगवान राम की ही कृपा है कि आज तक इसमें कभी कोई गलती नहीं हुई। इसलिए मैं मंचन से पूर्व उनका स्मरण करता हूं।

खबरें और भी हैं...