पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Jhunjhunu
  • Rupana Dham Balaji's Throne Will Shine With Gold And Silver, One And A Half Quintals Of Silver And One Kg Of Gold Will Be Installed In The Throne, The Artisans Of Sikar Are Preparing

चढ़ावे के छत्रों से निकला एक किलो सोना:250 साल पुराने रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में डेढ़ क्विंटल चांदी व एक किलो सोने से तैयार हो रहा है हनुमान जी का सिंहासन

झुंझुनूं2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भीमसर का रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में विराजे हनुमानजी। - Dainik Bhaskar
भीमसर का रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में विराजे हनुमानजी।

झुंझुनूं जिले के गांव भीमसर में लोगों की आ​स्था का केन्द्र रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में हनुमानजी का सिंहासन चांदी व सोने से तैयार किया जा रहा है। सिंहासन में डेढ़ क्विंटल चांदी व एक किलो सोने का उपयोग किया जाएगा। इसको देखने के लिए भक्त मंदिर पहुंच रहे हैं। मंदिर ट्रस्ट के सदस्य सुमित टीबड़ा ने बताया कि यह मंदिर करीब 250 वर्ष पुराना है।

मंदिर का 1987 में जीर्णोद्धार किया गया था। 1987 के बाद मंदिर में भक्तों की ओर से जो भी चढ़ावा व सोने चांदी के छत्र चढ़ाए गए उनको मंदिर में ही संभाल कर रखा गया। इन सोने चांदी के छत्रों को गलाने से करीब डेढ क्विंटल चांदी और एक किलो सोना तैयार हुआ है। इसी सोने व चांदी से बालाजी महाराज का सिंहासन तैयार करवाया जा रहा है। सिंहासन को सीकर के कारीगरों की ओर से तैयार किया जा रहा है।

मंदिर ट्रस्ट कर रहा सामाजिक सरोकार के कार्य

ट्रस्ट के सदस्य सुमित टीबड़ा ने बताया कि ट्रस्ट धार्मिक के साथ—साथ सामाजिक सरोकार भी निभा रहा है। गरीब कन्याओं की शादी हो या फिर गरीबों को मकान बनाकर देने की बात, हर काम में ट्रस्ट आगे रहता है। गांव में पाइपलाइन बिछाने में भी ट्रस्ट ने सहयोग दिया है। मंदिर के अंतर्गत गौशाला भी संचालित की जा रही है।

मेले में उमड़ती है भीड़

भीमसर के रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में अप्रैल और अक्टूबर में लगने वाले मेलों में देश के कोने-कोने से प्रवासी आते हैं। बालाजी महाराज के दरबार में मत्था टेक कर मनौतियां मांगते हैं। हालांकि कोरोना के कारण मेलों व अन्य धार्मिक आयोजन पर रोक लगी हुई है।

खबरें और भी हैं...