प्रदर्शन:खेती व किसानी बचाओ यात्रा झुंझुनूं पहुंची, अग्रसेन सर्किल से कलेक्ट्रेट तक रैली निकाली

झुंझुनूं19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
झुंझुनूं. खेती किसानी बचाओ यात्रा निकालते। - Dainik Bhaskar
झुंझुनूं. खेती किसानी बचाओ यात्रा निकालते।

कृषि कानूनाें तथा लखीमपुर खीरी में किसानाें की हत्या के विराेध में निकाली जा रही खेती किसानी बचाओ यात्रा के तहत गुरुवार काे शहर में ट्रैक्टर रैली निकालकर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया गया। भारतीय किसान यूनियन के युवा मोर्चा की ओर से खरनाल नागाैर से शुरू हुई यह यात्रा बीकानेर, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, चूरू हाेते हुए झुंझुनूं पहुंची। यहां अग्रसेन से लेकर कलेक्ट्रेट तक ट्रैक्टर रैली निकाली गई। रैली के आगे डीजे लगी गाड़ी चल रही थी। जिसमें किसान एकता जिंदाबाद व देश भक्ति के गीताें से जुड़े गीत बज रहे थे। रैली राेड नंबर दाे हाेकर कलेक्टर आवास पहुंची।

उसके बाद कलेक्ट्रेट पर किसानाें ने प्रदर्शन कर राष्ट्रपति के नाम एसडीएम काे ज्ञापन साैंपा। जिसमें लखीमपुर खीरी में किसान हत्याकांड के दोषियों को पर सख्त कार्रवाई करने, हिंसा भड़काने वाले केंद्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्रा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए। संवैधानिक पद पर रहते हिंसा के लिए उकसाने के दोषी हरियाणा के मुख्यमंत्री को पद से बर्खास्त करने की मांग की। इस अवसर पर भारतीय किसान यूनियन युवा मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष विक्रम सिंह मीना ने कहा कि यूपी के लखीमपुर में साजिश के तहत गाड़ी चढ़ाकर किसानाें की हत्या की गई।

जब तक हत्या के सभी आराेपियाें काे गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तब तक आंदाेलन किया जाएगा। युवा जाट महासभा के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप ढेवा ने कहा कि किसानाें पर अत्याचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। युवा जाट महासभा जिलाध्यक्ष संदीप बलाैदा ने कहा कि किसान आंदाेलन काे दबाने के लिए अलाैकतांत्रिक तरीके अपनाए जा रहे हैं। लखीमपुर की घटना साबित करती है कि किसानाें काे दबाने के लिए औछे हथकंडे अपनाए जा रहे है। इस अवसर पर अश्विन ओला, नीरज डांगी, बंटी महला, विक्रम झाझड़िया, भूपेंद्र गुर्जर, दिनेश डूडी, यशपाल बलाैदा, सुरेश मील, नवीन बुडानिया, शाहरूख खान, इदरीश रहमानी, सुभाष यादव, आशीष चाैधरी, जितेंद्र खीचड़ मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...