बुहाना के सागवा का मामला:महिला की सांप से डसवाकर हत्या करने के आरोपी की जमानत खारिज, कोर्ट ने कहा-सांप भी हथियार

झुंझुनूं19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2 जून 2019 को बहू ने प्रेमी और उसके साथी के साथ मिलकर की थी हत्या

बुहाना थाना इलाके के सागवा में 2 जून 2019 की रात सांप से डसवाकर सास की हत्या के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आरोपी बहू के प्रेमी के साथी कृष्ण कुमार की जमानत याचिका खारिज की है। मामले में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सांप को भी हथियार माना है। बुहाना पुलिस ने इस मामले में मृतक महिला सुबाेध की बहू अल्पना जांगिड़, उसके प्रेमी खाैरा विशाल करधनी (जयपुर) निवासी मनीष मीणा व प्रेमी के साथी अभयपुरा किशनगढ़ रेनवाल निवासी कृष्ण कुमार को 4 जनवरी 2020 को गिरफ्तार किया था।

इनमें से आराेपी कृष्ण कुमार ने हाईकाेर्ट में अपनी जमानत खारिज हाेने के बाद सुप्रीम काेर्ट में याचिका लगाई थी। जिसे सुप्रीम काेर्ट ने यह कहकर खारिज कर दिया कि आरोपियों ने षड्यंत्रपूर्वक हत्या की। कोर्ट ने सांप काे भी मानते हुए जमानत खारिज कर दी। तीनों आरोपी पिछले एक साल से खेतड़ी जेल में बंद हैं।

हत्या को दिया था हादसे का रंग, बहू की निगरानी की तो 7 माह बाद खुलासा
इस मामले रोचक पहलू यह था कि सुबोध देवी की मौत को परिजनों ने एक हादसा मान लिया था, लेकिन सास की मौत के बाद बहू लगातार कई देर तक किसी से फोन पर बात करती थी। ससुराल वालों को शक हुआ तो ससुर राजेश ने 23 जुलाई 2019 को बहू के खिलाफ सास की हत्या की एफआईआर दर्ज करवाई। पुलिस ने इसकी जांच की तो सामने आया कि अल्पना ने 2 जून को एक ही दिन में 124 बार मनीष मीणा के मोबाइल पर बात की थी।

मनीष के साथी कृष्ण कुमार से भी उसी दिन अल्पना की 19 बार फाेन पर बात हुई थी। पुलिस ने पूरी पड़ताल की तो सामने आया था कि अल्पना का शादी से पहले ही मनीष के साथ प्रेम प्रसंग था और पति के ड्यूटी पर जाने के अगले ही दिन वह पीहर आ गई थी। इसके कुछ माह बाद वह ससुराल गई तो एक दिन उसका प्रेमी मनीष और साथी कृष्ण कुमार रात को उसके घर आए। बाद में एक दो बार फिर आए। घर में अल्पना और उसकी सास सुबोध देवी अकेले ही रहते थे।

सुबोध देवी को इन पर शक हो गया था और राज खुल जाने के डर से इन तीनों ने जयपुर के एक सपेरे से सांप मंगवा कर रात को सो रही सास पर छोड़ दिया। सांप ने उसे काट लिया जिससे उसकी मौत हो गई। जिसे आरोपियों ने हादसे का रंग दिया था। मामले में 4 जनवरी 2020 को पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था।

बहू अल्पना ने अपनी सास को पूरी योजना बनाकर मारा। अपने प्रेमी की मदद से वह कई दिनों से इसका प्लान बना रही थी। 2 जून को मनीष और उसका साथी कृष्ण कुमार सांप लेकर शाम को ही घर में घुस गए थे। रात होने पर अल्पना ने जूस में बेहोशी की दवा मिलाकर सास को पिलाई। इसके बाद सांप को कमरे में छोड़ दिया गया। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में सुबोध देवी के शरीर में सांप का जहर पाया गया था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया था सांप का जहर

सेना से रिटायर सागवा निवासी राजेश जांगिड़ के बेटे सचिन की शादी 12 दिसंबर 2018 को जयपुर निवासी अरविंद कुमार की पुत्री अल्पना से हुई थी। उस समय सचिन एयरफोर्स में आसाम में तैनात था। उसका छोटा भाई चिरंतन नेवी में है। खुद राजेश जांगिड़ कानपुर में प्राइवेट नौकरी करता है। शादी के बाद ये तीनों वापस अपनी अपनी ड्यूटी पर लौट गए थे। 2 जून 2019 को रात सवा दो बजे अल्पना ने ससुर को फोन कर बताया कि सास को सांप ने काटा है। राजेश ने फोन कर अपने चचेरे भाई भूपसिंह को घर भेजा। सुबोध देवी को बुहाना ले गए। जहां से उसे झुंझुनूं रैफर कर दिया गया। जहां एक निजी अस्पताल में सुबाेध देवी काे मृत घाेषित कर दिया गया। छह माह बाद यह खुलासा हुआ कि बहू ने अपने प्रेमी और उसके साथी की मदद से सास की हत्या की थी।

खबरें और भी हैं...