गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज:भड़ाैंदा में गाेशाला खोलने वाले व्यक्ति की माैत, परिजनाें ने गिरफ्तारी की मांग काे लेकर शव लेने से किया इनकार

झुंझुनूं2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीडीके अस्पताल में एकत्रित भड़ौंदा कलां के ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
बीडीके अस्पताल में एकत्रित भड़ौंदा कलां के ग्रामीण।

भड़ाैंदा कलां में गाैशाला बनाने वाले एक व्यक्ति की माैत के मामले में परिजनाें ने कुछ लाेगाें पर मारपीट का आराेप लगाते हुए आराेपियाें काे गिरफ्तार करने की मांग काे लेकर बुधवार काे शव लेने से इनकार कर दिया। इस संबंध में उसके कुछ लाेगाें के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कराया है। पुलिस के मुताबिक भड़ाैंदा कलां निवासी बाबूलाल (59) काे मंगलवार दे रात बीडीके अस्पताल लाया गया। जहां उसकी माैत हाे गई।

उसके परिजनाें ने गांव के ही कुछ लाेगाें पर मारपीट कर प्रताड़ित करने तथा उससे डिप्रेशन की वजह से माैत हाेना बताते हुए आराेपियाें काे गिरफ्तार करने की मांग की। सूचना पर पुलिस माैके पर पहुंची। एससी एसटी सैल के डीएसपी आनंद राव माैके पर पहुंचे समझाइश की, लेकिन ग्रामीण आराेपियाें काे गिरफ्तार करने, मृतक के आश्रित काे सरकारी नाैकरी की मांग करने लगे।

इस संबंध में बगड़ थाना पुलिस ने मनीष की रिपाेर्ट पर महावीर, रामस्वरूप सुभाष, सुरेंद्र, शीशराम के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। रिपाेर्ट में मनीष ने बताया कि उसके पिता सामाजिक कार्यकर्ता थे। 39 लाख रुपए से गांव में गाेशाला बनाई। आराेपियाें ने मिलीभगत कर उन्हें कमेटी से बाहर निकाल दिया। प्रताड़ित करने लगे।

15 सितंबर काे मारपीट की

मनीष ने आरोप लगाया कि 15 सितंबर को बाबूालाल से मारपीट की थी और जातिसूचक गालियां दी। जिसमें मृतक घायल हो गया था। पुलिस में रिपाेर्ट दी गई थी। कार्रवाई नही हाेने से उसके पिता सदमे में थे। जिस वजह से माैत हाे गई।

खबरें और भी हैं...