पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

काेराेना के बीच सावन:तीर्थ स्थलों के पवित्र जल से नहीं हो सकेगा भोलेनाथ का अभिषेक

झुंझुनूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 36 शुभ योगों का रहेगा संयोग, 31 जुलाई तक नहीं खुलेंगे शिवालय और न ही निकलेंगी कावड़ यात्राएं

हिन्दू पंचांग का पांचवां महीना सावन सोमवार से प्रारंभ हो रहा है। सावन का समापन 3 अगस्त को होगा। उस दिन भी संयोग से सोमवार है। सोमवार को महादेव का प्रिय वार माना जाता है। सावन मास उनको अति प्रिय है। इस लिए सावन महीने का सोमवार को प्रारंभ होना और सोमवार को ही समापन होना काफी शुभ और फलदायी माना जा रहा है। इस बार सावन में पांच सोमवार आ रहे हैं। यह भी शुभ संकेत है। बता दें कि इस बार कई सालों बाद सावन में 39 शुभ संयोग बन रहे हैं। इस बार सावन में 11 सर्वार्थ सिद्धि, 10 सिद्धि योग, 12 अमृत योग और 3 अमृत सिद्धि योग भी बन रहे हैं।

पूरे महीने में नहीं निकलेगी कावड़ यात्रा, घर पर ही होगी महादेव की पूजा 
पूरे सावन महीने शिव भक्त पवित्र सरोवरों से जल लाकर हर सोमवार को अपने क्षेत्र के शिवालयों में शिव का अभिषेक करते हैं। जिले के लोग हरिद्वार तक जल लाने जाते हैं अौर समीप के शिवालयों में शिव पर जल चढ़ाते हैं। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के प्रकोप के कारण कावड़ यात्रा का उत्साह ठंडा पड़ चुका है।

सावन के दौरान मंदिरों में भीड़ न करने तथा अधिकांश मंदिरों के पट बंद रहने के सरकारी आदेशों के तहत जिले के शिवालयों में श्रद्धालु जलाभिषेक नहीं कर सकेंगे। इस बार हरिद्वार, लोहार्गल व अन्य बड़े तीर्थ स्थलों से सामूहिक कावड़ लेकर लोग जल नहीं ला सकेंगे। हालांकि, देवों के देव महादेव की पूजा-अर्चना आप घर में भी कर सकते हैं।

ग्रामीण क्षेत्र में 50 से कम श्रद्धालुओं की संख्या वाले धार्मिक स्थलों पर राज्य सरकार ने सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने व सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन की पालना करते हुए जाने की इजाजत दी है, लेकिन शहरी क्षेत्रों में इन पर रोक रहेगी। ऐसे में शिव भक्त अपने घरों में ही शिव का अभिषेक कर रिझाने की कोशिश करेंगे।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें