पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दर्दनाक हादसा:हादसे में घायल पति ने भी दम तोड़ा, पति व पत्नी की एक ही चिता पर की अंत्येष्टि

गुढागौड़जी/ चनाना3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गजराज सिंह व पत्नी प्रथमा। - Dainik Bhaskar
गजराज सिंह व पत्नी प्रथमा।
  • गुढ़ागौड़जी इलाके में हादसे में चनाना के स्कूल संचालक की मौत

चनाना के लिए मंगलवार का दिन कभी न भूलने वाला रहा। एक ही परिवार के दाे सदस्याें की सड़क हादसे में माैत से हर काेई स्तब्ध रहा। लीलों की ढाणी के पास साेमवार रात सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल मनिंद्र स्कूल चनाना के संचालक गजराज सिंह धींवा की माैत हाे गई। इससे पहले साेमवार काे उनकी पत्नी की भी मृत्यु हाे गई थी। मंगलवार काे दाेनाें की चनाना में एक ही चिता पर अंत्येष्टि की गई। काफी लाेग उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हाेकर उन्हें आखिरी विदाई दी।

हादसे में गंभीर रूप से घायल चनाना निवासी गजराज सिंह धींवा व नीमकी ढाणी तन बामलास निवासी मूलचंद व सीथल निवासी सुनीता को रैफर किया था। गजराज सिंह धींवा ने जयपुर ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। मंगलवार काे दोनों शवों का गुढा सीएचसी में पोस्टमार्टम के परिजनों को सुपुर्द कर दिया। उसके पास दाेनाें के शव चनाना लाए गए। एक ही घर से दाेनाें की जैसे ही पति- पत्नी के शव घर पहुंचे काेहराम मच गया। घर से एक साथ दाे अर्थियां निकली ताे हर काेई सुबकने लगा। दाेनाें की एक ही चिता पर अंत्येष्टि हुई।

शाेक में बंद रहा चनाना
मनिंद्र स्कूल के संस्थापक गजराज सिंह धींवा और उनकी पत्नी प्रथमा की अचानक माैत से कस्बे में व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहा। सुबह उठते ही लाेगाें काे गजराज धींवा की माैत की मनहूस खबर भी लग गई थी। लाेगाें ने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे। दाेपहर बाद उनके घर पर लाेगाें का जमावड़ा लग गया।

गजराज सिंह धींवा अपने दो भाइयाें साथ में चनाना में संस्था चलाते थे। छोटे भाई दीपचंद सेवानिवृत्त सूबेदार है और उनसे छोटा कुलदीप वरिष्ठ अध्यापक है। गजराज सिंह के तीन बेटे है, बड़ा बेटा मनिंद्र सॉफ्टवेयर इंजीनियर है, दूसरा आशीष प्रॉपर्टी डीलर है। उससे छाेटा नाम हिमांशु सॉफ्टवेयर इंजीनियर है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser