पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Jhunjhunu
  • The Relatives Demonstrated By Keeping The Dead Body In Front Of The Nawalgarh Police Station For Four Hours, The Family Agreed On The Assurance Of The SDM

हाईटेंशन लाइन के करंट से झुलसे युवक की मौत:नवलगढ़ थाने के सामने चार घंटे शव रखकर परिजनों ने किया प्रदर्शन, एसडीएम के आश्वासन पर माने

झुंझुनूं8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में भर्ती झुलसा युवक। बाद में इसकी मौत हो गई। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में भर्ती झुलसा युवक। बाद में इसकी मौत हो गई।

झुंझुनूं के नवलगढ़ कस्बे के सीकर रोड़ स्थित निर्माणाधीन मकान में शुक्रवार को एक मजदूर मुकेश कुमार 33 हजार वोल्ट की बिजली की लाइन की चपेट में आने से झुलस कर गंभीर रूप से घायल हो गया था। गंभीर झुलसे युवक को नवलगढ़ के राजकीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद उसी दिन जयपुर के एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। सोमवार शाम को इलाज के दौरान मुकेश कुमार की जयपुर के एसएमएस अस्पताल में मौत हो गई।

आज सुबह पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया गया। मंगलवार दोपहर को मुकेश कुमार का शव जैसे ही नवलगढ़ पहुंचा तो उसके परिजन और मौहल्ले के अन्य लोग थाने के सामने शव रखकर धरने पर बैठ गए और निर्माणाधीन मकान के मालिक प्रेम चोबदार व बिजली विभाग के अधिकारियों पर कार्रवाई करने और मृतक के परिवार को मुआवजा देने की मांग करने लगे। मृतक मुकेश कुमार के पिता मक्खन लाल ने निर्माणाधीन मकान के मालिक व बिजली विभाग के अधिकारियों पर लापरवाही बरतने का मुकदमा भी दर्ज कराया है।

एसडीएम ने समझाया, 4 घंटे बाद माने परिजन

मृतक के परिवार को बिजली से मुआवजा, निर्माणाधीन मकान के मालिक पर दर्ज मुकदमे में गंभीर धाराएं जोड़ने तथा नगर पालिका प्रशासन द्वारा निर्माणाधीन मकान के अवैध हिस्से को तुड़वाने की मांग लेकर गुस्साए मृतक के परिजन नवलगढ़ थाने के सामने शव रखकर धरने पर बैठ गए। सूचना पर पुलिस उपअधीक्षक सतपाल सिंह मौके पर पहुंचे और मृतक के परिजनों से समझाने का प्रयास किया, लेकिन परिजन नहीं माने। इसके बाद एसडीएम सुमन सोनल भी धरनास्थल पर पहुंची और बातचीत की लेकिन सफलता नहीं मिली। फिर पुलिस थाने के अंदर वार्ता का तीसरा दौर हुआ और एसडीएम द्वारा तीनों मांगों को लेकर नियमानुसार कार्रवाई करने और मृतक के परिवार को नियमानुसार आर्थिक सहायता का आश्वासन दियाद्ध इसके बाद लोग धरने से उठे।

खबरें और भी हैं...