पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एसडीएम के आश्वासन पर साढ़े तीन घंटे बाद माने लोग:करंट से झुलसे युवक की 4 दिन बाद मौत, थाने के सामने शव रख दिया धरना, धरना उठाया

नवलगढ़12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नवलगढ़. थाने के सामने मृतक का शव रखकर धरना देते हुए लोग। - Dainik Bhaskar
नवलगढ़. थाने के सामने मृतक का शव रखकर धरना देते हुए लोग।

सीकर रोड पर काम के दौरान करंट लगने से झुलसे युवक की चार दिन बाद मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने मुआवजा देने सहित तीन मांगों को लेकर पुलिस थाने के सामने शव रखकर धरना दिया। एसडीएम के आश्वासन पर करीब साढ़े तीन घंटे बाद लोग मान गए और धरना समाप्त कर दिया।

वार्ड 16 निवासी मक्खनलाल मेघवाल का पुत्र मुकेश 10 सितंबर को सीकर रोड पर प्रेम चोबदार की दुकानों के निर्माण कार्य पर मजदूरी कर रहा था। बरामदे में काम करने के दौरान लोहे का फंटा ऊपर से जा रही बिजली लाइन से छू गया, जिससे करंट लगने से वह झुलस गया। उसे जयपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां सोमवार देर शाम उसका निधन हो गया।

इस मामले में मक्खनलाल ने प्रेम चोबदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। मंगलवार को दोपहर करीब 12 बजे एडवोकेट जगदीश वर्मा के नेतृत्व में मृतक के परिजन व रिश्तेदार उसके शव को लेकर थाने पर पहुंच गए और धरने पर बैठ गए।

जगदीश वर्मा ने निर्माणाधीन भवन के मालिक प्रेम चोबदार को गिरफ्तार करने, निर्माण कार्य को ध्वस्त करने व बिजली निगम से उचित मुआवजा दिलाने की मांग की। पुलिस उपाधीक्षक सतपालसिंह, एसडीएम सुमन सानेल मौके पर पहुंचे और धरनार्थियों से वार्ता की। एसडीएम ने मुकदमे में धारा बदलने, अवैध निर्माण कार्य की उचित जांच करवाकर कार्रवाई करने व बिजली निगम से नियमानुसार मुआवजा दिलाने की कार्रवाई शुरू करने का आश्वासन दिया।

इसके बाद परिजन मान गए और धरना समाप्त कर दिया। वार्ता में ईओ राकेश रंगा, बिजली निगम के एईएन दिनेश जांगिड़, सुभाष बुनकर, युवा नेता राकेश दायमा, मृतक के पिता, महिला कांग्रेस की ब्लॉक अध्यक्ष मंजूदेवी, मेघवंशीय चेतना समाज के सचिव रामेश्वर भूरिया, नरपतसिंह बारवा, सुनील खटीक, राकेश नागौरा शामिल थे।

खबरें और भी हैं...