पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विवाह मुहूर्त:इस वर्ष शादी के 55 सावे, रामनवमी से शुरू होंगे विवाह के मुहूर्त

झुंझुनूं6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विवाह के लिए बुक कराए मैरिज हाॅल, बैंडबाजा, अक्षय तृतीया, पीपल पूर्णिमा को अबूझ सावा

इस महीने की 21 तारीख से शादियों के मुहूर्त की शुरुआत हो रही है, लेकिन काेराेना भी अपनी रफ्तार बढ़ा रहा है। इसलिए शुभ मंगल के साथ-साथ शादियों के सीजन में अधिक सावधान रहने की जरूरत है। खरमास के बाद इस साल शादियों के लिए 55 मुहूर्त हैं, जिनमें चार अबूझ सावे भी शामिल हैं। जिनमें 21 अप्रैल काे भी रामनवमी का अबूझ सावा है। काेराेना संक्रमण बढ़ने से सरकार ने शादी समारोह में मेहमानों की संख्या 100 निर्धारित कर दी है।

इस साल दिसंबर तक 51 बड़े लग्न व चार अबूझ सावाें समेत 55 दिन विवाह मुहूर्त हाेंगे। पंडित वेदप्रकाश महमिया ने बताया कि 21 अप्रैल रामनवमी के अबूझ सावे से इन मुहूर्त की शुरुआत हाेगी। इसके बाद 14 मई अक्षय तृतीया, 26 मई काे पीपल पूर्णिमा व 18 जुलाई काे भडल्या नवमी पर भी अबूझ मुहूर्त हैं। गत साल विवाह के 49 मुहूर्त थे, लेकिन लॉकडाउन व काेराेना संक्रमण के डर से कई शादियां रद्द हो गई थीं।

वाटिका, रिसाेर्ट, मैरिज हाॅल व बैंड की बुकिंग करवाई : पिछले साल काेराेना संक्रमण व लॉकडाउन के कारण कई शादियां टल गई थीं। इस साल लाेगाें ने शादी समारोह काे लेकर मैरिज हाॅल, वाटिका, रिसाेर्ट, बैंडबाजा, कैटरिंग, टैंट, घोड़ी आदि भी बुक कर लिए गए हैं, लेकिन फिर से काेराेना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार ने इनके माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी है। 21 अप्रैल रामनवमी के अबूझ सावे से इन मुहूर्त की शुरुआत हाेगी।

इसके बाद 14 मई अक्षय तृतीया, 26 मई काे पीपल पूर्णिमा व 18 जुलाई काे भडल्या नवमी पर भी अबूझ मुहूर्त हैं। गत साल विवाह के 49 मुहूर्त थे, लेकिन लॉकडाउन व काेराेना संक्रमण के डर से कई शादियां रद्द हो गई थीं।

पहले चार महीने के मुहूर्त
अप्रैल 22, 23, 24, 25, 26, 27, 28, 29 व 30
मई 1, 2, 3, 7, 8, 9, 14, 19, 21, 22, 23, 24, 26, 27, 28, 29 व 30 जून 5, 6, 15, 16, 18, 19, 20, 22, 24 व 30
जुलाई 1, 2, 3, 7, 12, 15 व 16

20 जुलाई से 15 नवंबर तक चलेगा चातुर्मास, इसमें मांगलिक कार्य नहीं होंगे
इस साल 20 जुलाई काे आषाढ़ शुक्ल देवशयनी एकादशी हाेने से वैवाहिक या मांगलिक कार्य नहीं हो पाएंगे। फिर 15 नवंबर काे कार्तिक शुक्ल देवाेत्थान यानी देवउठनी एकादशी से मांगलिक कार्य शुरू हो जाएंगे। मई और जून में इस साल विवाह के लिए अधिक और अच्छे मुहूर्त हैं। इन तिथियों के साथ ही अप्रैल में रामनवमी व अन्य त्योहारों पर भी देव मुहूर्त रहता है, जिसमें भी विवाह समारोह कर सकते हैं। अप्रैल से शुरू हो रहा वैवाहिक मुहूर्त 16 जुलाई तक रहेगा। इसके बाद चातुर्मास लगने से मांगलिक कार्यक्रम बंद हो जाएंगे। चातुर्मास के दौरान विवाह शादियों सहित शुभ कार्य वर्जित रहेंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें