कृषि कानून वापस लेने की खुशी मनाई:संयुक्त किसान मोर्चा ने टोल प्लाजा पर सभा कर मिठाई बांटी, बोले- एक साल के संघर्ष की जीत हुई

झुंझुनूं6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टोल प्लाजा पर एकत्र किसान - Dainik Bhaskar
टोल प्लाजा पर एकत्र किसान

तीनों कृषि कानून को वापस होने के बाद झुंझुनूं के डीगाल टोल प्लाजा पर खुशी मनाई गई। यहां संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं व कार्यकर्ताओं के द्वारा मिठाई बांटकर खुशी मनाई गई। मदन सिंह यादव ने बताया कि पिछले 12 महीनों से दिल्ली के चारों तरफ बॉर्डर पर बैठे किसान तीनों कृषि काले कानून निरस्त करने व एमएसपी की खरीद की गारंटी का कानून बनाने के लिए आंदोलनरत हैं। जिसे 29 नवंबर को संसद के शीतकालीन सत्र में तीनों कृषि कानून को ध्वनि मत के द्वारा निरस्त कर वापस लिया गया। जिसकी जीत की खुशी में टोल प्लाजा पर सभा कर मनाई गई।

टोल प्लाजा पर की गई सभा को संबोधित करते हुए नौजवान सभा के महासचिव बिलाल कुरैशी ने बताया कि यह किसानों के द्वारा 1 वर्ष तक लगातार आंदोलन कर त्याग और बलिदान के बदौलत संघर्ष की जीत है। मलसीसर किसान सभा के संयुक्त सचिव किसान नेता अरविंद गढ़वाल ने कहा कि जब तक एमएसपी की गारंटी कानून संसद में नहीं बनेगा तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा। किसान नेता महेंद्र बाबल ने तमाम कार्यकर्ताओं व टोल कर्मियों का मिठाई बांटकर अभिनंदन किया।

वक्ताओं ने बताया तीनों कृषि कानून निरस्त होना किसानों की आधी जीत है। जब तक सरकार संयुक्त किसान मोर्चा के 6 सूत्रीय मांग पत्र पर चर्चा कर निरस्त नहीं करेगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा। सभा की अध्यक्षता रामनिवास बेनीवाल ने की। इस दौरान रोशन लाल बेनीवाल , दारा सिंह बेनीवाल, अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव मदन सिंह यादव, नौजवान सभा के महासचिव बिलाल कुरैशी, मलसीसर किसान सभा के संयुक्त सचिव अरविंद गढ़वाल, किसान नेता महेंद्र बाबल ,नवलगढ़ किसान सभा के अध्यक्ष गिरधारी सिंह महला, अजय बाकरा , सुनील पूनिया आदि उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...