पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना सस्पेक्टेड बताकर छिपाया जा रहा मौतों का सच:शादी के 7 दिन बाद युवक की मौत; सांस लेने में दिक्कत थी, रिकॉर्ड में यह कोरोना सस्पेक्टेड

नवलगढ़/झुंझुनूं13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

कोरोना से हो रही मौतों का आंकड़ा छिपाने के लिए सरकार अब मरीजों को कोरोना सस्पेक्टेड बता रही है। ऐसे ही कुछ मामले नवलगढ़ में सामने आए हैं। जहां पिछले दो दिन में सात जनों की मौत हो गई। खास बात ये है कि ये सभी कोरोना सस्पेक्टेड बताए गए और इनका अस्पताल में इलाज चल रहा था। अधिकांश की इलाज के दो तीन दिन में मौत हो गई, लेकिन इनमें से किसी की रिपोर्ट नहीं आई नतीजा इनकी मौत भी सामान्य मानी गई।

परिजन इनका शव गांव ले गए और अंतिम संस्कार कर दिया। इनमें सबसे चौंकाने वाला एक मामला बीदासर के एक युवक का है। जिसकी शादी सात दिन पहले हुई। दो तीन पहले उसे सांस लेने में दिक्कत हुई। जिस पर उसे अस्पताल लाया गया। वहां उसे कोरोना सस्पेक्टेड मान भर्ती कर लिया गया और दूसरे दिन उसकी मौत हो गई। सरकार अब इसे कोरोना से मौत नहीं मानती। ऐसे में सवाल उठते हैं कि एकदम युवावस्था में इस तरह से अचानक मौत आखिर किन कारणों से हुई। इसका खुलासा कैसे होगा। इसलिए सरकार आंकड़े छुपाएं नहीं।

नवलगढ़ : सस्पेक्टेड वार्ड में भर्ती लोग मर रहे, कारण पता नहीं
पिछले 24 घंटे में कस्बे के उपजिला अस्पताल में दो महिलाओं सहित 5 जनों की मौत हो गई। इनमें से दो की मंगलवार को और चार की सोमवार को मौत हुई। इनमें डूंडलोद व गोदारा की ढाणी की एक-एक महिला शामिल है। रामदेवरा बस स्टैंड के पास रहने वाले एक बुजुर्ग व मंडी गेट के एक युवक की ऑक्सीजन लेवल नीचा आने के कारण मौत हो गई। डूंडलोद निवासी एक व्यक्ति की रतनगढ़ में मौत हो गई।

ये सभी कोरोना सस्पेक्टेड थे। इसी प्रकार सैनीपुरा के 30 वर्षीय एक युवक की भी मौत हो गई। इसने रविवार को नवलगढ़ में सैंपल दिया था। फिर घर चला गया। रात को तबीयत बिगड़ी तो उसे सीकर ले गए। जहां मौत हो गई। सवाल उठता है कि कोराेना सस्पेक्टेड मामलों में मौत को कोरोना में क्यों शामिल नहीं कर रहे।

खेतड़ीनगर : पांच दिन में छह जनों की मौत, सभी को साइलेंट अटैक
खेतड़ी नगर, मौतों का सच छिपाने की खबरें खेतड़ीनगर से भी आई। केसीसी टाउनशिप में पिछले पांच दिन में छह मौतें हुई हैं, लेकिन किसी का स्पष्ट कारण नहीं बताया जा रहा। भास्कर ने मृतकों के परिजनों से बात की तो वे भी खुलकर कुछ नहीं बोल रहे, लेकिन आश्चर्यजनक ढंग से अधिकांश ने बताया कि साइलेंट अटैक आया था। पिछले एक पखवाड़े की बात करें तो यहां नौ-दस मौतें हुई।

यहां मोक्षधाम व्यवस्थापक ने बताया कि जिस प्रकार मोक्षधाम में अंतिम संस्कार हो रहे हैं इस प्रकार तो आज तक नहीं देखा गया। इन हालातों के बावजूद यहां चिकित्सा विभाग और प्रशासन कोई ध्यान नहीं दे रहा। यहां तक कि किसी को मौतों का सच भी नहीं बताया जा रहा। ऐसी मौतों पर सवाल उठने लगे हैं।

राहड़ों के बास की महिला की कोरोना से मौत, लेकिन रिकॉर्ड में नहीं
मलसीसर, अलसीसर पंचायत समिति के राहड़ों का बास की एक 42 वर्षीय महिला की मंगलवार को कोरोना से मौत हो गई। महिला को सोमवार सुबह सांस लेने में तकलीफ के बाद परिजनों ने बीडीके में भर्ती कराया था। सोमवार शाम उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। मंगलवार सुबह महिला ने दम तोड़ दिया, लेकिन सरकारी आंकड़ों में मंगलवार को कोराेना से एक भी मौत नहीं बताई गई है। कोविड प्रोटोकॉल के तहत महिला का अंतिम संस्कार किया गया।

इधर, महिला के परिजनों ने आरोप लगाया है कि कोरोना से मौत के बाद भी परिवार के अन्य सदस्यों की विभाग ने कोई सुध नहीं ली। केवल पटवारी ने मौके पर पहुंचकर खानापूर्ति पूरी की। जबकि परिवार के तीन अन्य सदस्यों को भी बुखार की शिकायत है।

छापोली में पिछले 3 दिन में तीन और मौतें, दो में थे कोरोना के लक्षण
उदयपुरवाटी, छापोली में एक ही दिन में 7 अंतिम संस्कार के बाद हाल ही में 3 दिन में तीन और मौतें हुई हैं। इनमें से दो लोगों में कोविड जैसे लक्षण नजर थे। जानकारी के अनुसार छापोली पावर हाउस के सामने 3 दिन पहले करीब 25 साल के युवक की मौत हो गई थी। वह पिछले तीन-चार दिन से बीमार था। उसका ऑक्सीजन लेवल कम था। उदयपुरवाटी में डॉक्टर को चैक करवाने के बाद उसे झुंझुनूं ले जाते समय रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।

इसी प्रकार मंगलवार को दो जनों की मौत हो गई। दोनों ही बीमार थे लेकिन एक में कोरोना जैसे लक्षण बताए जा रहे हैं। जिन लोगों की मौत हुई है उनमें किसी की कोरोना जांच नहीं हुई थी। 2 दिन पहले जिस युवक की मौत हुई थी उसके छोटे भाई की तबीयत भी सोमवार की रात बिगड़ गई। उसे भी झुंझुनू भर्ती करवाया गया है।

सवालों में 22 साल के युवक की मौत
नवलगढ़ के बीदासर निवासी सुरेंद्र सैन (22) की 25 अप्रैल को शादी हुई थी। दो भाईयों की शादी भी हुई थी। एक मई को अचानक सुरेंद्र के सांस लेने में दिक्कत हुई। इसके बाद उसे उपजिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसे वेंटिलेटर पर लिया। वह तीन दिन से वेंटिलेटर पर था। हालांकि कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आई, लेकिन उसे कोराेना सस्पेक्टेड वार्ड में भर्ती किया गया। मंगलवार सुबह उसने दम तोड़ दिया।

आंकड़े छिपाने का नतीजा : पॉजिटिव की अंत्येष्टि में शामिल लोगों में से 12 पॉजिटिव

उदयपुरवाटी, कोरोनो से माैतों का आंकड़ा और समय पर जानकारी नहीं देने पर और भी लोगों के संक्रमित होने का मामला सामने आया है। ब्लॉक में मंगलवार को 31 पॉजिटिव आए है क्षेत्र के ग्राम धमोरा और शहर के वार्ड 31 को 9 मई तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। क्षेत्र के धमोरा में 5 दिन पहले एक कोरोना पॉजिटिव महिला की सीकर के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

परिवार के लोगों ने उसे साधारण मौत की तरह लाकर अंतिम संस्कार कर दिया। गांव के बहुत से लोग अंतिम संस्कार में शामिल हुए। मृतका के घर पर लगातार बैठक भी जारी थी। इस बीच सीकर से सीएमएचओ झुंझुनूं के पास सूचना आई तो मृतका के परिजनों के सैंपल लिए। उसमें से 12 जने पॉजिटिव मिले।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें