पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:खेतड़ी में जलदाय विभाग का कर्मचारी रात भर सोता रहा और व्यर्थ बहता रहा मीठा पानी

खेतड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खेतड़ी के लोगों ने किया विरोध, झोझू कुई से बहा नदी में हजारों लीटर पानी

कुंभाराम योजना का पानी आने से खेतड़ी के लोगों ने राहत की सांस ली थी, लेकिन इस योजना में आने वाला मीठा नगर का पानी लोगों तक पूरी तरह नहीं पहुंच पा रहा है। कभी कुछ तो कभी कुछ परेशानी सामने आ रही है।

मंगलवार की रात जलदाय विभाग की झोझू कुई से शुरू की गई सप्लाई पर ध्यान नहीं दिए जाने के कारण पूरी रात पानी व्यर्थ ही बहता रहा और जलदाय विभाग का कर्मचारी सोता रहा। खेतड़ी के वार्ड 12, 13 व आस-पास के लोगों को बुधवार सुबह नदी में पानी बहता दिखाई दिया तो लोग वहां एकत्रित हो गए।

जलदाय विभाग के अधिकारियों को फोन करने पर जवाब दिया गया कि वाॅल खुला रह गया। वार्डवासियों का आरोप है कि 3 दिन पूर्व भी हजारों लीटर पानी व्यर्थ ही नदी में बह गया। उस दौरान दीपावली होने से वार्ड के लोगों ने इसे नजर अंदाज कर दिया, लेकिन इसी कुई से 3 दिन बाद फिर नदी में पानी को व्यर्थ बहता देख कर लोगों में आक्रोश हो गया।

वार्ड के लोगों का कहना था कि 5 से 6 दिन में एक बार पानी की सप्लाई करता है जो पर्याप्त नहीं होती। कर्मचारियों की लापरवाही से आए दिन हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह जाता है। झोझू कुई से रात भर पानी व्यर्थ बहने को लेकर वार्ड के एडवोकेट अजीत सिंह तंवर, विजय सिंह तंवर, रामेश्वर लाल सैनी, सुरेश शर्मा, माडूराम सैनी, मुरलीधर सैनी, सुवालाल सैनी, पूर्व पार्षद धर्मेंद्र सैनी, महेन्द्र सिंह सहित अनेक लोगों ने विरोध प्रकट किया।

इसके लिए लोगों ने उपखंड अधिकारी से मिलकर समस्या के समाधान के लिए ज्ञापन दिया। झोझू कुई से 3 दिन पूर्व भी पानी राजकीय जयसिंह स्कूल तक बहता रहा। सहायक अभियंता रवि कुमार जैन ने बताया कि वाॅल फ्री होने के कारण लाइन का पानी लगभग आधे घटे तक बहा। वाॅल को ठीक कर दिया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser