पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिले का सबसे बड़ा प्लांट:लाडनूं में प्लांट स्वीकृत, 1 मिनट में हजार ली. ऑक्सीजन बनेगी

लाडनूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दूसरे चरण में मिली स्वीकृति, 2 करोड़ से डीआरडीओ की ओर से बनवाया जाना है
  • 2 दिन में काम शुरू होने की उम्मीद

यहां राजकीय उप जिला चिकित्सालय में 1000 लीटर प्रति मिनट की उत्पादन क्षमता के प्रस्तावित मेडिकल ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट की स्वीकृति मिलने के साथ ही स्थापना का कार्य शुरू किया जा रहा है। शनिवार को संबंधित अधिकारी यहां आकर काम शुरू करवाने वाले थे, पर उनका आना नहीं हुआ, अगले दो दिनों में काम शुरू होने की संभावना है। यह प्लांट भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय के अन्तर्गत गठित रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा लगाया जा रहा है।

कलेक्टर और एनएचएआई की टीम ने यहां राजकीय चिकित्सालय में मौका मुआयना करके इसके लिए जमीन का निर्धारण कर दिया था और नक्शे वगैरह भी बनाए जाकर भिजवाए जा चुके थे। यहां अस्पताल में पीछे की तरफ ऑक्सीजन प्लांट के लिए भूमि का चयन करवाया जाकर चिह्नित भूमि के लिए एनओसी दी जा चुकी थी। इस प्लांट के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर का सिविल एवं इलेक्ट्रिक का काम राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचआईए) द्वारा करवाया जा रहा है।

एनएचआईए के प्रतिनिधि व टीम द्वारा यहां प्रशासन व अस्पताल अधिकारियों द्वारा अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन प्लांट के लिए स्थान का चिह्नीकरण पूर्व में कर दिया गया था। यहां 30 गुणा 20 फीट में इसका ढांचा तैयार किया जाकर उसके आगे रैम्प बनाने की योजना है। यह इन्फ्रास्ट्रक्चर का सारा काम एनएचआईए द्वारा करवाया जाना प्रस्तावित है।

आगामी 7 दिनों की अवधि में पूरा इन्फ्रास्ट्रक्चर बनकर तैयार हो जाएगा। इसके बाद डीआरडीओ द्वारा यहां पर प्लांट स्थापित किया जाएगा, जिसमें सम्पूर्ण मशीनरी सेट की जाकर प्लांट शुरू किया जाएगा। इस प्लांट पर करीब दो करोड़ रुपयों का व्यय होना है। यहां 200 सिलेंडर प्रतिदिन का उत्पादन होगा तथा इसकी सप्लाई पूरे जिले के अस्पतालों को की जा सकेगी।

पहले चरण में स्वीकृति के बाद एनवक्त टला था निर्माण

इसे फर्स्ट फेज में शुरू किया जाना था, लेकिन स्वीकृति अटक गई थी। इसकी खबर 11 मई को भास्कर ने पुरजोर तरीके से उठाई, जिस पर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण जयपुर के चीफ जनरल मैनेजर एवं रीजनल ऑफिसर एम.के. जैन ने तत्काल संज्ञान में लेते हुए द्वितीय चरण में स्वीकृति का भरोसा दिलाया था।

नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने लाडनूं को ऑक्सीजन प्लांट से वंचित नहीं रखने की मांग की थी। डीआरडीओ देश भर में 400 प्लांट लगाने जा रहा है। जिनमें राज्य के 8 जिलों के 16 चिकित्सा संस्थानों में भारत सरकार द्वारा ये प्लांट बनवाए जाने हैं।

सांसद के प्रयास लाए रंग

ऑक्सजीन प्लांट का कार्य स्वीकृत होने पर आरएलपी व कार्यकर्ताओं ने सांसद हनुमान बेनीवाल का आभार जताया है। स्वीकृति प्रथम फेज में सांसद के प्रयासों से ही आई थी मगर निर्माण शुरू नहीं हुआ, जिसके बाद बेनीवाल ने केंद्रीय मंत्रियों को पत्र लिख वार्ता भी की थी। गोविंद मंडा, हनुमान भाकर, विकास बुरड़क, सुनील बेनीवाल ने खुशी जताई।

खबरें और भी हैं...