महासंकल्प सभा:संत और गोभक्तों ने जमीन को भूमाफियाओं से बचाने का लिया संकल्प, आंदोलन करेंगे

लोसल12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ग्राम गुमानपुरा स्थित बाबा रघुवीरदास महाराज की पुण्यतिथि पर नृसिंह आश्रम में साधु-संतों, अनुयायियों एवं पूर्व विधायकों की मौजूदगी में भूमाफिया से गोचर भूमि बचाने के लिए महासंकल्प सभा हुई। इस दौरान बुधगिरी मढ़ी फतेहपुर के पीठाधीश्वर दिनेश गिरी महाराज,

रैवासा धाम के पीठाधीश्वर राघवाचार्य महाराज, करणी माता पालवास के संत चंद्रमा दास महाराज सहित बड़ी संख्या में संतों का सानिध्य रहा। इस दौरान पूर्व विधायक कॉमरेड अमराराम, पूर्व विधायक पेमाराम, पूर्व विधायक गोवर्धन वर्मा,

पूर्व पालिकाध्यक्ष गोविदराम बिजारणिया, जिला परिषद सदस्य रणवीर सिंह बिजारणिया, शेखावाटी एजुकेशन ग्रुप के चेयरमैन बीएल रणवां, माकपा के जिला सचिव किशन पारीक, मुन्ना लाल गौड़ सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि भू-माफियाओं द्वारा नृसिंह आश्रम की गोशाला की जमीन पर अवैध कब्जा किया गया है। उसके लिए ये महासंकल्प सभा हुई है। वक्ताओं ने कहा कि ये जमीन 46 साल पहले गोशाला संचालित करने के लिए आश्रम के संत रघुवीर दास महाराज ने खरीदी थी।

इसके बाद से उक्त जमीन पर संतों की समाधियां, गोशाला का चारागाह आदि का पक्का निर्माण हो रखा है। कुछ समय पहले भू-माफियाओं ने इस जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करते हुए इसे अपने नाम करवा लिया। इससे पूरा संघ समाज आक्रोशित है और क्षेत्र के लोगों में भी आक्रोश है।

प्रशासन और सरकार के समक्ष लोगों द्वारा बार-बार मांग करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। सभी ने संकल्प लिया है कि गोशाला की जमीन पर किसी भी शर्त पर कब्जा नहीं होने दिया जाएगा। फतेहपुर के दिनेश गिरी महाराज ने कहा कि भूमाफिया गोचर भूमि की जमीन को भी नहीं छोड़ रहे हैं।

इस अन्याय के विरोध में यहां इकट्ठे हुए हैं यह जमीन गोशाला की है और गोशाला की रहेगी। पूर्व विधायक अमराराम, पेमाराम और गोवर्धन वर्मा ने भी कहा कि तात्कालिक संत रघुवीरदास महाराज ने ये जमीन खरीदी थी। अगर बेची हुई जमीन को फिर बेची जाती है तो अपराध की श्रेणी में आता है।

खबरें और भी हैं...