पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मलसीसर का मामला:प्रधान के कहने पर रोका नाले व सड़क का काम जिला प्रमुख बोलीं-विकास कार्यों में अड़चन ठीक नहीं

मलसीसर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मलसीसर. मलसीसर में निर्माण कार्यों का जायजा लेती जिला प्रमुख हर्षिनी। - Dainik Bhaskar
मलसीसर. मलसीसर में निर्माण कार्यों का जायजा लेती जिला प्रमुख हर्षिनी।
  • निर्माण कार्य रोकने की सूचना पर मौके पर पहुंची जिला प्रमुख

मलसीसर ग्राम पंचायत की ओर से सीएचसी के पास स्थित मस्जिद से लेकर बाइपास तक नाला निर्माण, डिवाइडर व इंटरलॉक सड़क निर्माण के कार्य को रुकवाने के मामले को लेकर मंगलवार को जिला प्रमुख हर्षिनी कुलहरी मौके पर पहुंची। उनके साथ बीडीओ महेश चंद्र बिजारणिया, एईएन राजेन्द्र कुमार ने भी मौका देखा।

सरपंच ताराचंद जांगिड़ के अनुसार प्रधान घासीराम पूनिया ने मौखिक आदेश देकर ही नाला निर्माण कार्य रुकवाया था। तत्कालीन बीडीओ गोपीराम महला ने पीडब्ल्यूडी एईएन अनुज चाहर को लेवल जांचने के आदेश दिए थे। तब चाहर ने जांच के बाद लेवल सही नहीं होने की रिपोर्ट दी थी।

अगर वास्तविकता देखे तो मस्जिद से बाइपास का लेवल करीब पांच फीट नीचे है। चेम्बर भी रास्ते में आने वाले सभी घरों के सामने बनाए गए हैं। ग्रामीणों की माने तो गांव के विकास में राजनीतिक रोड़े अटकाए जा रहे हैं। सड़क व नाले के लिए 9 लाख का बजट जारी हुआ था। जिला प्रमुख ने राजनीतिक कारणों से निर्माणाधीन कार्य में बेवजह रोड़े अटकाने पर नाराजगी जताई।

जिला प्रमुख हर्षिनी कुलहरि ने कहा कि किसी भी विकास कार्यों में राजनीतिक कारणों से अड़चनें पैदा नहीं की जानी चाहिए। उन्होंने कहा अगर किसी काम में कोई गड़बड़ हो तब भी उसे शीघ्र दुरुस्त किया जा सकता है जबकि यहां साफ साफ दिखाई देता है कि नाला निर्माण में लेवल सही है और अन्य कार्य शुरू ही नहीं होने दिया गया तो गड़बड़ कहां है। जिला प्रमुख ने बीडीओ व एईएन को दो दिन में जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। नाला खुदवाई से मिट्टी से परेशानी हो रही है।

जानबूझकर लटकाया काम

उन्होंने कहा इस काम को जानबूझकर लटकाया गया है जबकि अब तक यह पूरा हो गया होता। जिला प्रमुख ने मलसीसर पंचायत में नरेगा अधिकारी से विभिन्न कामों की प्रगति रिपोर्ट जानी व कहा कि बजट की कोई कमी नहीं होगी। आप जिला परिषद में और भी प्रस्ताव बनाकर भेजें। इस मौके पर बीडीओ महेशचंद, एईएन राजेन्द्र कुमार, सरपंच ताराचंद जांगिड़ थे।

खबरें और भी हैं...