क्या क्या दिखाएगा कोरोना / 34 दिन बाद आया बेटे का शव, मां अंतिम बार चेहरा भी नहीं देख सकी

कुवैत से 34 दिन बाद गांव पहुंचा शव, ताबूत में दर्शन कर किया अंतिम संस्कार। कुवैत से 34 दिन बाद गांव पहुंचा शव, ताबूत में दर्शन कर किया अंतिम संस्कार।
X
कुवैत से 34 दिन बाद गांव पहुंचा शव, ताबूत में दर्शन कर किया अंतिम संस्कार।कुवैत से 34 दिन बाद गांव पहुंचा शव, ताबूत में दर्शन कर किया अंतिम संस्कार।

  • तिवाड़ी का बास के युवक की कुवैत में माैत का मामला

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:16 AM IST

नीमकाथाना. कुवैत में मौत के 34 दिन बाद शनिवार को युवक का शव तिवाड़ी का बास पहुंचा। माता-पिता व परिजनों ने ताबूत में ही अंतिम दर्शन किए। दिल्ली एयरपोर्ट से दोपहर बाद 27 वर्षीय मृतक नवीन कुमार शर्मा पुत्र बजरंग लाल का शव उनके गांव पहुंचा। वह करीब 20 माह पहले कुवैत में मजदूरी करने गया था। वहां एक हादसे में उसकी मौत हो गई। हादसे के कुछ घंटे पहले ही उसने परिजनों से फोन पर बात की थी।

बेटे की मौत के बारे में पिता बजरंगलाल व मां निर्मला देवी को नहीं बताया गया था। चाचा संतोष व पवन भारतीय दूतावास के जरिए शव लाने के प्रयासों में लगे थे।  केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के प्रयासों से शनिवार को शव दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचा। वहां से परिवार के लोग उसे गांव लेकर आए।  
मां ने कहा- अंतिम बार बेटे को दुलार भी नहीं सकी

ताबूत में लिपटे बेटे के शव को देखकर मां निर्मला देवी ने रोते हुए कहा कि वह अंतिम बार अपने बेटे को दुलार भी नहीं सकी। उसे परिवार की किस्मत बनाने विदेश भेजा था। वह ताबूत में सिमट कर आया। पॉलिथीन में लिपटे बेटे के शव को देखकर वह दहाड़े मार कर रोने लगी। परिवार के लोगों ने उसे संभाला।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना