पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • 10 Years Ago, The Case Of Selling Illegal Liquor Was Registered, After Arrest Came Out On Bail, Then Absconded, Now Arrested

10 साल से फरार, ट्रकों पर घूमते हुए बचता रहा:अवैध शराब बेचने के मामले में गिरफ्तारी किया गया था, जमानत पर निकला और हो गया फरार, अब फिर पकड़ा

सीकर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्त में आया बदमाश। - Dainik Bhaskar
गिरफ्त में आया बदमाश।

शराब बेचने के एक मामले में गिरफ्तार शख्स कोर्ट से जमानत के बाद ऐसा फरार हुआ कि दस साल तक पुलिस की पकड़ में नहीं आया। कोर्ट ने उसके नाम वारंट जारी कर दिया। पुलिस को सूचना मिली कि फरार वारंटी घर पर आया हुआ है। दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया।

थानाधिकारी नरेंद्र सिंह ने बताया कि 2011 में शराब बेचते हुए रुल्याणी गांव के प्रेमसिंह को नेछवा पुलिस ने गिरफ्तार किया था। आबकारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। जिसे तीन दिन बाद जमानत मिल गई थी। उसके बाद आरोपी फरार हो गया।

फरार घोषित कर वारंट जारी किया गया

लक्ष्मणगढ़ की एसीजेएम कोर्ट ने उसे फरार घोषित करते हुए वारंट जारी किया था। पुलिस ने उसे कई जगहों पर तलाश किया, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। आरोपी ने इस दौरान अपने घर पर भी संपर्क नहीं किया। तभी से मामला पेंडिंग चल रहा था।

थानाधिकारी नरेंद्र सिंह ने बताया कि सूचना के आधार पर रुल्याणी गांव में दबिश दी तो आरोपी परिवार से मिलने के लिए आया हुआ था। हैड कांस्टेबल मोटाराम, कांस्टेबल बलबीर सिंह, मुकेश कुमार, सुमेर कुमार और कुलदीप सिंह की टीम बनाकर गांव से पकड़ लिया।

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह दस साल से ट्रकों पर खलासी का काम करता हुआ, देश के कई हिस्सों में घूमता रहा। इसलिए वह पुलिस की पकड़ से बच गया था। घरवालों को खुद के जीवित होने की जानकारी देने और संपर्क में रहने के लिए वह गांव आया था।

खबरें और भी हैं...