लाेन का झांसा दे 3.98 लाख ठगे:ऑनलाइन फ्रॉड कर खाते से 1.7 लाख रु. निकाले, प्रदेश और जिले में ऑनलाइन ठगी के  मामले बढ़े

सीकर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
परिवादी ने  11 जनवरी काे थाेई में मामला दर्ज  करवाया।  - Dainik Bhaskar
परिवादी ने  11 जनवरी काे थाेई में मामला दर्ज  करवाया। 

प्रदेश और जिले में ऑनलाइन ठगी के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। सीकर में ऐसे ही दाे मामले दर्ज हुए हैं। उद्याेग नगर थाना में नेहा सिंह ने मामला दर्ज रवाया कि उसके बैंक अकाउंट से दाे दिन में ऑनलाइन ट्राजेक्शन में छह ट्रांजेक्शन मेें किसी ने 107616 रुपए निकाल लिए।

वहीं एक अन्य मामले में एक युवक ने 10 लाख रुपए का लाेन देने के बहाने से फाेन पे पर 3.98 लाख रुपए ठग लिए। दाेनाें मामलाें की पुलिस जांच कर रही है।

उद्योग नगर थानाधिकारी पवन कुमार चाैबे ने बताया कि परिवादी नेहा सिंह सामाेर निवासी आदर्श काॅलाेनी जयपुर पब्लिक स्कूल के पास ने मामला दर्ज करवाया कि उनके पीएलबी बैंक अकाउंट से ऑनलाइन फ्राॅड कर पैसे निकाल लिए। परिवादी के पास बैंक से मैसेज आने पर कस्टमर केयर पर फाेन किया ताे पता चला कि 10 जनवरी काे आराेपी ने 20-20 हजार रुपए दाे बार, 5 हजार, 24 हजार, 5680 रुपए, 25850 रुपए और 7086 रुपए कुल 3.29 लाख रुपए ठग लिए । जबकि परिवादी ने सिर्फ एक बार 75 रुपए का फाेन वैलिडिटी रिचार्ज और दूसरी बार 10 रुपए का फाेन रिचार्ज किया है। जांच एएसआई हनुमानसिंह को दी है।

वहीं दूसरा मामला थाेई थाना में दर्ज हुआ है। श्याम लाल कड़वासरा 35 वर्ष पुत्र घीसाराम निवासी ढाणी रूुंझावाली गढ़भाेपजी ने मामला दर्ज करवाया कि उसके पास करीब 7-8 महीने पहले फाेन आया था कि तुम्हे एचडीबी फाइनेंस से लाेन लेना है क्या। परिवादी काे पैसाें की जरूरत थी इसलिए उसने हां कर दी। आराेपी ने कागजात वाॅट्सएप करवा लिए।

इसके बाद आराेपी ने दाेबारा फाेन किया कि आपकाे 10 लाख रुपए का लाेन स्वीकृत हुआ है और 2800 रुपए फाइल चार्ज के जमा करवाने हैं। इस पर उसने 3 हजार रुपए फाेन पे करवाए। इसके बाद आराेपी ने 2 मई काे 9 हजार रुपए, 29 हजार, 22500, 31 हजार सहित कुल 3.98 लाख रुपए अलग-अलग नंबराें पर फाेन पे करवा लिए। अब आराेपी उसका फाेन नहीं उठा रहा है। परिवादी ने 11 जनवरी काे थाेई में मामला दर्ज करवाया।

खबरें और भी हैं...