पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • 650 Peons Of Chinese Manz Were Caught, But The Collector Was Taking Action In Such A Section That The Accused Got Bail In Two And A Half Hours.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चाइनीज मांझा : न बेचें, न खरीदें:चाइनीज मांझे की 650 चरखियां पकड़ी, लेकिन कलेक्टर ऐसी धारा में कार्रवाई करा रहे कि आरोपी को ढाई घंटे में जमानत मिली

सीकर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दो दिन में धारा 188 में दो कार्रवाई, दोनों में आरोपी ढाई से पांच घंटे में छूट गए, जबकि एनवायरमेंट एक्ट में यह गैर जमानती अपराध
  • धोद रोड पर नत्थी देवी सीकरिया कॉलोनी व फतेहपुर में कार्रवाई

कोतवाली पुलिस ने चाइनीज मांझा सप्लाई करने वाले युवक सुरेंद्र को गिरफ्तार कर उसके पास से 12 कार्टन में भरी 650 चाइनीज मांझे की चरखी जब्त की, लेकिन आरोपी महज ढाई घंटे में जमानत पर छूट गया। पुलिस का तर्क है कि कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने चाइनीज मांझा रखने और बेचने वालों पर धारा 144 व 188 के तहत कार्रवाई के आदेश दे रखे हैं। जबकि हाईकोर्ट के फैसले पर राज्य सरकार ने एनवायरमेंट (प्रोटेक्शन) एक्ट 1986 की धारा पांच के तहत कार्रवाई के आदेश दे रखे हैं।

एन्वायरनमेंट एक्ट में यह गैर जमानती अपराध है। इसके बावजूद जिला प्रशासन इसे हल्के में ले रहा है। कोतवाली थाना के सब इंस्पेक्टर बिजेंद्र सिंह ने बताया कि डीएसटी टीम को सीकर में चाइनीज मांझे की बड़ी सप्लाई आने की सूचना मिली।

इस पर कोतवाली थाना की ओर से टीम गठित की गई। डीएसटी टीम व कोतवाली थाना की टीम ने धोद रोड स्थित नत्थी देवी सीकरिया कॉलोनी में एक मकान के बाहर चाइनीज मांझे के 12 कार्टन के साथ खड़े 24 वर्षीय मंडावरा निवासी सुरेंद्र कुमार को पकड़ा।

टीम के कुछ कांस्टेबल पहले ही सिविल ड्रेस में मौजूद थे। सुरेंद्र ने चाईनीज मांझा की 650 चरखियों से भरे 12 कार्टन में माल यहां उतरवाया था। वह इसे दुकानदारों को सप्लाई करने वाला था। सब इंस्पेक्टर बिजेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपी के खिलाफ कोर्ट में इस्तगासा पेश किया जाएगा। जुर्माना भी लगाया जाएगा। टीम में सब इंस्पेक्टर बिजेंद्रसिंह, एएसआई रामेश्वरलाल, कांस्टेबल दिलीप कुमार, सांवरमल, चालक विजेंद्र शामिल रहे।
फतेहपुर. कोतवाली पुलिस ने मुख्य बाजार में एक दुकान से 115 चरखी चाइनीज मांझा जब्त किया है। डीएसपी ओपी किलानिया ने बताया कि शहर कोतवाल उदयसिंह के नेतृत्व में कस्बे के लक्ष्मीनाथ विद्यालय के पास पतंग विक्रेता रविकांत माटोलिया की दुकान से 115 चरखी चाइनीज मांझा जब्त किया है। धारा 118 एवं 336 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

कलेक्टर साहब‌! कार्रवाई की धाराएं बदलिए, वरना जानलेवा धागा ऐसे ही लोगों के गले काटता रहेगा

चाइनीज मांझे से युवक की गर्दन कटने की यह तस्वीर भले ही चूरू के कड़वासर की है, लेकिन सीकर का दर्द भी इससे अलग नहीं है। हर साल 1 महीने के दौरान चाइनीज मांझे से दर्जनों लोग गंभीर घायल हो जाते हैं। सैकड़ों पक्षियों की मौत हो जाती है। इसके बावजूद ये जानलेवा मांझा बिकना बंद नहीं होता। क्योंकि इस घिनौने कारोबार से जुड़े लोगों को पता है कि कार्रवाई ही इतनी कमजोर धाराओं में होती है कि थाने से ही जमानत मिल जाती है। एन्वायरमेंट (प्रोटक्शन) एक्ट में चाइनीज मांझा रखना, बेचना और इसका इस्तेमाल करना गैर जमानती अपराध है।

दैनिक भास्कर शहर के नागरिकों की तरफ से अपील करता है कि कलेक्टर साहब शहर को लहुलुहान होने से बचाने के लिए चाइनीज धागे से लड़ने के लिए धाराएं मजबूत कीजिए।

2 मामलों से समझें यूं होती है ढाई से पांच घंटे में जमानत

1. रविवार को आरोपी सुरेंद्र कुमार को चाइनीज मांझे के साथ शाम करीब पौने आठ बजे गिरफ्तार किया गया। कोतवाली थाने लाने पर करीब ढाई घंटे बाद शाम 10.15 बजे उसे जमानत पर छोड़ दिया गया। आरोपी को 650 चरखी के साथ पकड़ा गया था।
2. शनिवार दोपहर कोतवाली पुलिस ने दो दुकानदारों से 120 व 9 चाइनीज मांझे की चरखी जब्त की। इसमें प्रदीप कुमावत व विकास जैन को गिरफ्तार किया। करीब पांच-छह घंटे बाद दोनों को कोतवाली थाने पर जमानत मिलने शाम को इन्हें छोड़ दिया।
मुनाफे का खेल : 2.27 लाख रुपए कीमत है चाइनीज मांझे की
युवक चाइनीज मांझे की बड़ी चरखी 300 रुपए और छोटी चरखी 150 रुपए से थोक भाव में बेचता था। ऐसे में 650 चरखी की कीमत 2.27 लाख रुपए मानी जा रही है। आरोपी युवक माल को मकान या गोदाम में छिपाता। इसके बाद सप्लाई लेने के लिए दुकानदारों को वहां भेजता था। इसमें व्यापारी दोगुना तक मुनाफा कमा रहे हैं।
सबसे बड़ा सवाल : आखिर कहां से आ रहा है शहर में चाइनीज मांझा
जिलेभर में 90 फीसदी छतों पर बच्चे चाइनीज मांझे से पतंगबाजी कर रहे हैं। लेकिन अभी तक यह सामने नहीं आ आया है कि चाइनीज मांझा कहां से लाया जा रहा है। रविवार को पकड़ा गया चाइनीज मांझा किन-किन दुकानदारों को सप्लाई होना था। माल मंगवाने वाला मुख्य आरोपी कौन है। इन सभी सवालों का जवाब अभी पुलिस के पास भी नहीं है।

एन्वायरमेंट एक्ट के तहत वर्षों से चिट्ठी जारी कर रही है सरकार

राजस्थान हाईकोर्ट के डीबी सिविल रिट पिटिशन पीआईएल संख्या 15793/2011 महेश अग्रवाल बनाम राजस्थान व अन्य के मामले में 22 अगस्त 2012 के निर्णय का हवाला देते हुए राजस्थान सरकार सालों से तमाम कलेक्टर सहित अन्य जिम्मेदारों को चाइनीज मांझे पर कार्रवाई के निर्देश देती रही है।

एडवोकेट अंगद तिवाड़ी ने बताया कि एनवायरमेंट (प्रोटेक्शन) एक्ट 1986 की धारा पांच के तहत कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं। एडवोकेट राजेंद्र हुड्डा का कहना है कि गैर जमानती अपराध होने के बावजूद प्रशासन धारा 144 में चाइनीज मांझे पर प्रतिबंध लगा रहा है। जबकि कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने 23 दिसंबर 2020 को सभी एसडीएम और पुलिस अधिकारियों को धारा 188 के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर बोले-और सख्ती करेंगे

  • चाइनीज मांझा बेचने वालों पर कार्रवाई की जा रही है। इन मामलों में और सख्ती बरती जाएगी। एन्वायरनमेंट एक्ट और नगर पालिका नियमों के तहत भी कार्रवाई की जाएगी। - अविचल चतुर्वेदी, कलेक्टर
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें