पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • After Scoring 87 Percent Marks In 10th, Chose Arts To Become An Administrative Officer, The Eldest Of 5 Sisters, Pratiksha Made RAS 517th Rank

27 सदस्यों का परिवार आधी रात को जागा:10वीं में 87 फीसदी अंक लाने के बाद प्रशासनिक अधिकारी बनने के लिए आर्ट्स चुना, 5 बहनों में सबसे बड़ी प्रतिक्षा ने RAS 517वीं रैंक बनाई

सीकर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिक्षा शर्मा - Dainik Bhaskar
प्रतिक्षा शर्मा

​​​​लक्ष्मणगढ़ के भोजासर बडा की प्रतिक्षा शर्मा ने आरएएस परीक्षा में 517वीं रैंक हासिल की है। फिलहाल वे थर्ड ग्रेड टीचर्स है। 2018 में ही वह टीचर बनी थी। इस दौरान ही आरएएस की परीक्षा दी थी। पहले अटैम्प्ट में ही 24 वर्षीय प्रतिक्षा ने 27 सदस्यीय परिवार को आधी रात को जागकर सेलिब्रेशन का मौका दिया है।

एमए इंग्लिश से करने वाली प्रतिक्षा के पिता बाबूलाल शर्मा पाटोदा स्कूल में अंग्रेजी के व्याख्याता है। संयुक्त परिवार में रहने के बाद भी प्रतिक्षा को पढ़ाई में किसी तरह की अड़चन की बजाय सपोर्ट मिला है। तैयारी के लिए जरूर सीकर की एक कोचिंग में गई थी, लेकिन गाइडेंस लेकर लौट आई।

थर्ड ग्रेड टीचर से बनी आरएएस
थर्ड ग्रेड टीचर से बनी आरएएस

प्रतिक्षा ने पांच बहनों में सबसे बडी है और एक ही भाई है। प्रतिक्षा ने आरएएस में सलेक्ट होकर अपनी चार बहनों के लिए रास्ता खोल दिया है। छोटी बहन बीएड कर चुकी है। तीसरे और चौथे नंबर की बहन ट्वीन है। छोटी बहन फिलहाल 10वीं बोर्ड की तैयारी कर रही है।

प्रतिक्षा का कहना है कि वैसे में किसान परिवार से हूं, लेकिन एजुकेशन को लेकर परिवार में कोई परेशानी नहीं हुई। सभी पढ़े लिखे लोग है। पापा और चाची टीचर है। जब रात को पता लगा कि घर लाडली आरएएस बन गई है तो सभी ने मिलकर सेलिब्रेट किया।

नतीजे आने के बाद पूरा परिवार सेलिब्रेशन में जुट गया
नतीजे आने के बाद पूरा परिवार सेलिब्रेशन में जुट गया

प्रतिक्षा का कहना है कि जब दसवीं 87 परसेंट से की थी तब सभी ने कहा था​ कि साइंस या कॉमर्स लेनी चाहिए थी। लेकिन मैंने आर्ट्स ही ली। पापा ने भी पूरा सपोर्ट किया। इसके बाद थर्ड ग्रेड टीचर बनी और अब आरएएस।

खबरें और भी हैं...