• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • After Seeing The Last Sight Of The Martyr, The Heroine Became Insensitive, The Soldiers Of The Army Presented The Tricolor To The Son, Then Every Eye Became Moist

हर आंख हुई नम:शहीद के अंतिम दर्शन कर बेसुध हो गई वीरांगना, सेना के जवानों ने बेटे काे तिरंगा साैंपा तो हर आंख हुई नम

सीकरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नागौर जिले के लालास गांव में शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल हुए कई गांवों के लोग, वाहन रैली निकाली - Dainik Bhaskar
नागौर जिले के लालास गांव में शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल हुए कई गांवों के लोग, वाहन रैली निकाली

सीकर जिले की सीमा पर नागौर जिले के गांव लालास के शहीद सूबेदार महेन्द्र मुवाल का बुधवार को माता की जय, वंदेमातरम के नारों की गूंज के बीच सैन्य सम्मान से राउमावि लालास के सामने सार्वजनिक भूमि पर अंतिम संस्कार किया गया। शहीद की पार्थिव देह जब सीकर पहुंची तो सैकड़ों ग्रामीण व परिजन भी गाड़ियां लेकर पहुंचे। सीकर से मुवाल की पार्थिव देह को फूलमालाओं के ट्रक में डीजे पर देशभक्ति गीतों के बीच वाहनों की रैली के साथ लाया गया।

शहीद काे पूरे रास्ते में जगह-जगह पुष्प वर्षा कर श्रद्धांजलि दी गई। पार्थिव देह लालास पहुंचने पर माहौल गमगीन हो गया। शहीद के परिजनों बेटी, बेटे व पत्नी व अन्य का रो-रोकर बुरा हाल था। सारी रस्में पूरी करने के बाद अश्रुपूरित माहौल में महेन्द्र मुवाल की पार्थिव देह को राउमावि के सामने सार्वजनिक भूमि पर

लाया गया।

वहां विधानसभा के उपमुख्य सचेतक व नावां विधायक महेन्द्र चौधरी, नारायण बेनीवाल विधायक खींवसर, चेतन डूडी विधायक डीडवाना, माटी कला बोर्ड के पूर्व चेयरमैन हरीश कुमावत, एडीएम कुचामन रिछपालसिंह बुरड़क, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गणेशाराम चौधरी, एसडीएम कुचामन धर्मपाल जाट, कुचामन पालिकाध्यक्ष आसिफ खां ने पुष्प चक्र अर्पित कर शहीद को श्रद्धांजलि दी।

वहीं सेना के जवानों द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

शहीद महेन्द्र मुवाल को 13 वर्षीय पुत्र ने मुखाग्नि दी। बेटी पूजा ने वंदे मातरम, भारत माता की जय के नारे लगाकर अपने पिता को अंतिम विदाई दी। इस दौरान शहीद महेन्द्र अमर रहे, भारत माता की जय, वंदे मातरम के नारे गूंज उठे।

इस दौरान लालास सरपंच प्रतिनिधि त्रिलोकाराम शेषमा, नगर पालिका कुचामन के डिप्टी चेयरमैन हेमराज चावला, नंगवाड़ा सरपंच मनोज लोरा, टोडास सरपंच बलराम रॉयल, खोरंडी सरपंच नारायण राम नेहरा, घाटवा सरपंच पूर्णमल कुमावत ने पुष्प अर्पित कर शहीद को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान शहीद महेन्द्र मुवाल की पत्नी कमलादेवी, बेटी पूजा, बेटे संजय का रो-रोकर बुरा हाल था।

लालास सरपंच प्रतिनिधि त्रिलोकाराम शेषमा ने बताया कि शहीद की बेटी पूजा सीकर से बीए कर रह रही है, वही बेटा संजय लालास में ही नौवीं कक्षा में पढ़ रहा है। जनप्रतिनिधियों ने शहीद के घर जाकर परिवार को सांत्वना दी। इस दौरान सैन्य अधिकारियों व प्रशासनिक अधिकारियों ने बेटे संजय व पुत्री को तिरंगा व शहीद का फोटो भेंट किया।

खबरें और भी हैं...