हत्या का आरोपी जयपुर से गिरफ्तार:500 रुपए के विवाद में कैफे संचालक को मारकर भागा था, अलग-अलग जगह रहा

सीकर2 महीने पहले
पुलिस गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।

500 रुपए के विवाद में कैफे संचालक की हत्या के मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी पकड़े जाने के डर से फरार हो गया था। फरारी के दौरान जयपुर में मजदूरी करने लगा था। मामले में पुलिस 3 आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

सीकर के उद्योग नगर थाना अधिकारी श्रीनिवास जांगिड़ ने बताया कि 10 फरवरी को इकबाल भाटी ने रिपोर्ट दर्ज करवाई कि 9 फरवरी की रात उसका भाई साकिर हुसैन और लड़का इमरान भाटी अपने आसाम कैफे पर बैठे हुए थे। इस दौरान रात करीब 10 बजे होटल पर एक इनोवा कार में वसीम और फकरूदीन सहित कुछ लोग आए। उन्होंने साकिर और इमरान पर इमरान पर लाठी और सरियों से मारपीट की। इसके बाद बदमाश गाड़ी लेकर फरार हो गए। इलाज के दौरान इमरान भाटी की मौत हो गई।

जयपुर में कर रहा था मजदूरी
थाना अधिकारी ने बताया कि रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज करते हुए मामले में जांच शुरू की गई। घटना के कुछ दिनों के भीतर ही तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी अबरार चौहान फरार हो गया। उसने अपना मोबाइल भी बंद कर लिया। आरोपी की तलाश में कई बार उसके घर पर दबिश दी लेकिन कुछ पता नहीं चला। इसके बाद शुक्रवार को सूचना मिली कि आरोपी जयपुर में मजदूरी का काम करते हुए देखा गया है। सूचना पर टीम मौके पर पहुंची। जिसके बाद आरोपी अबरार चौहान (33) को गिरफ्तार किया गया। फिलहाल आरोपी से पूछताछ जारी है।

500 रुपए के विवाद के चलते हुई थी हत्या
बस डिपो के पास हुई यह हत्या महज 500 रुपए के विवाद को लेकर हुई थी। घटना में पूर्व में गिरफ्तार एक आरोपी फखरुद्दीन जो कि बिजली विभाग से रिटायर्ड था। उससे मृतक इमरान भाटी के चाचा साकिर ने वारदात के 1 महीने पहले ही बिजली का मीटर लगाया था। जिसके 500 रुपए कमीशन देने की बात पर ही मारपीट हुई। जिसमें इमरान भाटी की मौत हो गई।