• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Cheating With Contract Employee Of City Council, 25 Thousand Rupees Cheated In The Name Of Giving Loan From Bajaj Finance, Loan Not Even Received

नगर परिषद के संविदा कर्मचारी के साथ धोखाधड़ी:बजाज फाइनेंस से लोन देने के नाम पर ठगे 25 हजार रुपए, लोन भी नहीं मिला

सीकर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित ने ठगी का पता चलने पर उद्योग नगर थाने में मामला दर्ज कराया है। - Dainik Bhaskar
पीड़ित ने ठगी का पता चलने पर उद्योग नगर थाने में मामला दर्ज कराया है।

सीकर के उद्योग नगर थाना क्षेत्र में लोन के नाम पर धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। शातिर ठग ने बजाज फाइनेंस से लोन दिलाने का झांसा देकर पीड़ित के साथ 25 हजार रुपए धोखाधड़ी की। ठग ने पीड़ित से फाइल चार्ज और एनओसी जारी करने के नाम पर पैसे ले लिए, लेकिन उसे लोन के रुपए नहीं मिले। ठग ने पीड़ित से और पैसों की डिमांड की तो उसे धोखाधड़ी का पता चला। इसके बाद पीड़ित ने उद्योग नगर थाने में मामला दर्ज करवाया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

जांच अधिकारी सोहनलाल ने बताया कि पीड़ित तेजपाल सिंह शेखावत नगर परिषद में संविदा पर काम करता है। उसने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसके पास बजाज फाइनेंस का कर्मचारी बनकर विजय नाम का लड़का आया। उसने बताया कि उनका क्रेडिट स्कोर अच्छा है, जिसपर उनको लोन मिल सकता है। पैसों की आवश्यकता होने पर पीड़ित तेजपाल ने युवक को पैन कार्ड, आधार कार्ड देकर ऑनलाइन फॉर्म भर दिया। जिसके बाद तेजपाल के खाते में 1 लाख 23 हजार रुपए आ गए। लेकिन लोन पर ब्याज दर 28.22 फीसदी लगाई गई थी।

पीड़ित ने बताया कि उसने विजय को फोन किया और नाराजगी जताई तो उसने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। इसके बाद उसने कस्टमर केयर से बजाज फाइनेंस के हेड ऑफिस के नंबर लेकर फोन किया। जहां से उन्होंने वापस पैसा डालने पर एनओसी जारी करने की बात कही। पीड़ित ने दिए गए अकाउंट नंबर में 1 लाख 23 हजार रुपए डाल दिए। इसके बाद उसके पास फोन आया कि 11 हजार 450 रुपए जमा कराओ ताकि अकाउंट क्लोज कर सकें। पैसे जमा कराने के बाद एनओसी जारी करने के लिए 14 हजार रुपए और डालने को कहा। पीडित ने लोन के चक्कर में 14 हजार रुपए भी डाल दिए। इसके बाद दोबारा पैसों की डिमांड करने पर पीड़ित को धोखाधड़ी का पता चला।

खबरें और भी हैं...