पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना वैक्सीनेशन:शाम 7 बजे से रात 12 बजे तक वेबसाइट देखिए, 2 मिनट के लिए स्लॉट खुलेगा; नतीजा-वैक्सीनेशन सेंटर उपलब्ध नहीं है

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीका कम, भीड़ ज्यादा : खूड़ के वैक्सीनेशन सेंटर में टीके की कम डोज होने के कारण भीड़ लगी रही। इस दौरान सोशल डिस्टेंस नजर नहीं आया। - Dainik Bhaskar
टीका कम, भीड़ ज्यादा : खूड़ के वैक्सीनेशन सेंटर में टीके की कम डोज होने के कारण भीड़ लगी रही। इस दौरान सोशल डिस्टेंस नजर नहीं आया।

18+ से अधिक आयु के लाेगाें के लिए वैक्सीनेशन का रजिस्ट्रेशन ओलिंपिक में मेडल जीतने जैसा है। सीकर में 18 साल से ऊपर के 16.40 लाख युवाओं को टीका लगना है, लेकिन चिंताजनक पहलू यह है कि अभी तक 7 दिन में महज 19,799 लोगों को ही डोज लग पाई है। कारण-वैक्सीन नहीं मिल पा रही और युवा वेबसाइट पर शेड्यूल ही नहीं चुन पा रहे। वैक्सीन लगवाने से पहले अभी सबसे बड़ी चुनौती है-शेड्यूल चुनना। दैनिक भास्कर ने वैक्सीन पर सरकार के गड़बड़ गणित को समझने की कोशिश की।

2 मिनट में ही बुक हो रहे सारे स्लॉट
22 वर्षीय रमेश ने कोविन-एप पर 1 मई को वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन करा लिया था। इसमें उन्हें महज 5 मिनट लगे, लेकिन सात मई तक उनका वैक्सीनेशन के लिए नंबर नहीं आ पाया। क्योंकि-जब भी वे शेड्यूल के लिए वेबसाइट पर जाते हैं तो उन्हें बुकिंग फुल मिलती है। इसकी बड़ी वजह है कि शेड्यूल ओपन होने का कोई निश्चित समय नहीं है। यह विभाग को वैक्सीन मिलने पर निर्भर करता है।

अभी सीकर में वैक्सीन की सप्लाई कभी रात 12 बजे तो कभी सुबह होती है। वैक्सीन की सप्लाई के वक्त शेड्यूल के लिए वेबसाइट ओपन की जाती है। शाम 7 बजे से रात 2 बजे तक कभी भी वेबसाइट शेड्यूल के लिए ओपन हो सकती है। इसका सीधा मतलब है-आपको वैक्सीन लगवानी है तो शाम 7 बजे से वेबसाइट पर नजरें गढ़ानी होंगी। यह ठीक वैसे ही है-जैसे ई-कॉमर्स साइट पर मोबाइल की फ्लैश सेल होनी है तो आपको तय समय से 5 मिनट पहले वेबसाइट खोलकर रखनी होगी। क्योंकि-शेड्यूल ओपन होते ही महज 2 मिनट में सभी आउट ऑफ स्टॉक का मैसेज मिलता है।

भास्कर पड़ताल : 10 दिन में 40800 ही डोज मिल पाई, 3 दिन से सप्लाई नहीं
वैक्सीन की सप्लाई नहीं मिल पा रही, यही सबसे बड़ी चुनौती है टीकाकरण अभियान में। हालात यह है कि 4 मई को 8 हजार डोज मिले। जबकि 5, 6 व 7 मई को कोई वैक्सीन की सप्लाई नहीं हुई। यह 8 हजार डोज भी शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के हस्तक्षेप के बाद सप्लाई हुए। हालात यह है कि 10 दिन में महज 40800 डोज ही मिले हैं। इसलिए लगातार सेंटर कम होते जा रहे हैं। शुरुआत में 45 से ऊपर के लोगों के लिए 210 सेंटर थे। आज यह संख्या घटकर 130 या इससे भी कम रह गई है। अब शनिवार को वैक्सीन देर शाम तक मिलने की उम्मीद जताई गई है।

टीके की कमी को लेकर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सचिव सिद्धार्थ महाजन से बात की है। 12 हजार डोज देने के लिए कहा गया है। प्रदेश को ही डोज कम मिल पा रहे हैं, इसलिए थोड़ी दिक्कत है। रजिस्ट्रेशन की समस्या को भी चैक कराएंगे।
- गोविंद सिंह डोटासरा, शिक्षा राज्य मंत्री

सीकर में कितने लोगों का रजिस्ट्रेशन, केंद्र ने अभी तक बताया ही नहीं
सीकर में 16.40 लाख युवा हैं। इनमें से कितने लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवा दिया है, यह आंकड़े अभी तक केंद्र सरकार की तरफ से नहीं मिले हैं। शुक्रवार को हुई वीडियो कॉन्फ्रेंस में भी यह मुद्दा उठा था, लेकिन आंकड़े नहीं दिए गए।

डोज लगती नहीं और लगने का एसएमएस मिल जाता है : पिपराली के अरुण कुमावत डोज लगवाने पहुंचते, उससे पहले उनके पास वैक्सीनेशन का एसएमएस आ गया। ऐसा वेबसाइट के बग की वजह से हुआ। अब आठ मई से चार अंकों वाले सिक्योरिटी कोड की शुरुआत होगी। अब सत्यापन के बाद लाभार्थी को पात्र पाया गया तो चार अंकों का कोड बताने के बाद ही उसका टीकाकरण होगा।

14 दिन बाद 500 से कम (491) पॉजिटिव, 6 मौत
जिले में 14 दिन बाद शुक्रवार को 500 से कम यानी 491 संक्रमित मिले। 23 अप्रैल से 6 मई तक 500+ संक्रमित सामने आए थे। वहीं जिले में तीन महिलाओं सहित छह की मौत हाे गई। पूर्व संक्रमित 394 स्वस्थ हुए हैं। एक्टिव केस 7343 हैं। सीएमएचओ डाॅ. अजय चौधरी ने बताया कि लक्ष्मणगढ़ के लालाणा सूतोद की 65 वर्षीय महिला, पिपराली के सिंघासन गांव के 57 वर्षीय पुरुष और फतेहपुर के वार्ड 21 की 47 वर्षीय महिला की सांवली अस्पताल में मृत्यु हुई।

वहीं खंडेला के नीमेड़ा गांव के 56 वर्षीय, श्रीमाधोपुर के दीवराला गांव की 50 वर्षीय महिला और लक्ष्मणगढ़ के वार्ड 27 निवासी 71 वर्षीय वृद्ध की जयपुर के आरयूएचएस में मृत्यु हुई है। शुक्रवार को सीकर शहर में 85, फतेहपुर क्षेत्र में 12, खण्डेला ब्लॉक में 96, कूदन क्षेत्र में 39, लक्ष्मणगढ़ क्षेत्र में 76, नीमकाथाना ब्लॉक में 28, पिपराली क्षेत्र में 46, श्रीमाधोपुर ब्लॉक में 22 और दांता क्षेत्र में 87 नए कोरोना पॉजिटिव मिले।

किरडोली में 20 मई तक कर्फ्यू
धोद एसडीएम मिथलेश कुमार ने किरडोली में 20 मई तक कर्फ्यू लागू कर दिया। गांव में 15 दिन में चार संक्रमित लोगों की मौत हो चुकी है। 5 मई को कैंप लगाकर 160 लोगों के सैंपल लिए गए। जांच में शुक्रवार को यहां 33 लोग संक्रमित मिले। इस पर गांव के 60 फीसदी इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया।

खबरें और भी हैं...