कोरोनावायरस:सर्जरी से पहले कोरोना टेस्ट जरूरी, निगेटिव मिलने पर ही ऑपरेशन थिएटर में एंट्री होगी

सीकरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

एसके हॉस्पिटल में अब मरीज की सर्जरी से पहले उसका कोरोना टेस्ट किया जाएगा। बिना कोरोना टेस्ट के मरीज की सर्जरी नहीं की जाएगी। जांच में निगेटिव मिलने पर ही उसे ऑपरेशन थिएटर में प्रवेश दिया जाएगा। क्योंकि हॉस्पिटल प्रबंधन ने प्लान सर्जरी शुरू करने के बाद एहतियातन यह व्यवस्था लागू की है। 

एसके हॉस्पिटल में फ़िलहाल सर्जरी, ऑर्थोपेडिक्स, आई इनडोर में मरीजों को भर्ती करना शुरू किया है। हॉस्पिटल में प्लान सर्जरी करना भी शुरू किया है।  इसलिए सर्जरी के लिए भर्ती हुआ कोई मरीज कोरोना पॉजिटिव होने पर दूसरे मरीजों को भी संक्रमित कर सकता है।

ऑपरेशन थिएटर भी संक्रमित हो सकता है। इसलिए स्टाफ और वार्ड में भर्ती दूसरे मरीजों को कोरोना से बचाने के लिए यह कवायद शुरू की है। प्लान सर्जरी वाले मरीज को भर्ती कर कोरोना जांच कराए जाना अनिवार्य किया है। बिना कोरोना जांच के मरीज की सर्जरी टाल दी जाएगी।

डॉक्टरों ने यह फैसला अपेंडिक्स, हर्निया, आंत के ऑपरेशन वाले मरीजों के साथ ऑर्थोपेडिक्स डिपार्टमेंट के लागू किया है। सर्जरी डिपार्टमेंट के डॉ बीएस गढ़वाल का कहना है कि कोरोना जांच के बाद ही मरीज को ऑपरेशन थिएटर में प्रवेश दिया जाएगा। इससे दूसरे मरीजों को संक्रमित होने से बचाया जा सकेगा।

खबरें और भी हैं...