ठगी का मामला दर्ज:ऑनलाइन शाॅपिंग के पैकेट्स से डिलीवरीमैन ने 1.70 लाख रुपए के आईफाेन-वाॅच निकाले, दूसरा सामान डाल दिया

सीकर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आराेपी ने पहले अचराेल में इसी कंपनी में काम किया, सीकर में की ठगी। - Dainik Bhaskar
आराेपी ने पहले अचराेल में इसी कंपनी में काम किया, सीकर में की ठगी।

भास्कर संवाददाता | सीकर

ऑनलाइन शाॅपिंग ऑफिस के डिलीवरी मैन ने एपल आईफाेन, वीवाे जैसे महंगे माेबाइल निकालकर बाॅक्सेज काे वापस पैक कर दिए। डिलीवरी मैन ने कस्टमर काे सामान की डिलीवरी नहीं दी और कंपनी में आकर कहा कि कस्टमर ने सामान नहीं लेकर रिटर्न कर दिया है। इस तरह से डिलीवरी मैन ने 1.70 लाख से अधिक के माेाबाइल, घड़ी, स्वेटर व अन्य सामान पार कर लिया। अब परिवादी ने आराेपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।

सदर थानाधिकारी सुनील कुमार ने बताया कि नरेश कुमार ज्याणी पुत्र जगदीश प्रसाद ज्याणाी निवासी भादरा हनुमानगढ़ सेवद बड़ी में ई-काॅम एक्सप्रेस लि. नाम से ऑनलाइन शाॅपिंग कंपनी में नाैकरी करता है। नरेश कुमार ज्याणी ने डिलीवरी मैन के रूप में गणेश कुमार शर्मा पुत्र कन्हैयालाल शर्मा निवासी नासनवा नेछवा काे रखा था। गणेश काे सामान के पैकेट देकर डिलीवरी देने के लिए भेजा ताे उसने पिछले साल 30 नवंबर से लेकर 13 दिसंबर तक रास्ते में पैकेटाें काे खाेलकर सामान निकाल कर दूसरा सामान डालकर पैक कर दिया। वापस आकर बताता था कि कस्टमर ने सामान नहीं लिया है। तब हम सामान काे वापस जयपुर ऑफिस में भेज देते हैं। वहां स्कैन हाेने पर मालूम चला कि गणेश कुमार ने कस्टमर काे सामान दिया ही नहीं। वह पैकेट में अच्छा व महंगा सामान हाेने पर सामान निकाल लेता था और पैकेट काे अच्छे से पैक कर देता था।

माेबाइल व अन्य सामान काे दूसरे लाेगाें काे बेच दिया

आराेपी गणेश कुमार ने ई-काॅम एक्सप्रेस लि. कंपनी में जयपुर में काम किया था। वहां उसने एक महीने से अधिक काम किया था। इसके बाद वह कंपनी से ट्रांसफर लेकर सेवद बड़ी आ गया। आराेपी गणेश ने माेबाइल व अन्य सामान औने-पाैने दाम में बेच दिया। शुरू में आराेपी काे कंपनी व पुलिस की आेर से फाेन करने पर वह कभी नागाैर ताे कभी पंजाब में हाेने के चलते कुछ दिन में आने की बात कहता था, लेकिन मामला दर्ज हाेने के बाद वह फरार हाे गया है।

खबरें और भी हैं...