पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नेछवा का मामला:विवाहिता की मौत के मामले में निष्पक्ष जांच कराने की मांग; फंदे पर लटकी मिली थी विवाहिता

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विवाहिता की मौत के मामले में उसके परिजनों ने एसपी से मिलकर मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है। परिजनों का कहना है कि उनकी बेटी पूजा को ससुराल वालों ने दहेज की खातिर मार कर फंदे पर लटका दिया था। चूरू जिले के बाघसर निवासी पन्नालाल ने बताया कि उसकी बेटी पूजा की शादी 2018 में कोका की ढाणी निवासी विजय कुमार लंबा पुत्र हरदेवाराम लांबा के साथ हुई थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही उसकी बेटी पूजा को ससुराल वाले परेशान करने लगे थे।

जबकि उसने अपनी बेटी को दहेज में 2.51 लाख रुपए नकद, 71 हजार की एफडी और 10 तोला सोना दिया था। उसके ससुराल वाले बेटी से 50 लाख और एक गाड़ी की मांग कर रहे थे। पन्नालाल के अनुसार उसकी बेटी पूजा को उसके पति विजय कुमार, ससुर हरदेवाराम और सास गोरा देवी जो सरपंच भी है, प्रताड़ित कर रहे थे। इसके अलावा जेठ मनोज, जेठानी मंजू और ननद सुमन तथा नंदोई रघुनाथ ने 27 अप्रैल को उसकी हत्या कर दी।

नेछवा थाना पुलिस ने दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है लेकिन परिजनों को शंका है कि सास गौरा देवी सरपंच होने के नाते मामले को दबा सकती है। इसलिए मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और आरोपियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...