पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान संघ कल धरना-प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपेगा:फसल का लाभकारी मूल्य दिलाने व संशाेधनाें के साथ कृषि कानून लागू करने की मांग

सीकर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय किसान संघ फसलाें का लाभकारी मूल्य दिलाने की मांग को लेकर आठ सितंबर काे कलेक्ट्रेट पर धरना देगा। प्रदर्शन कर कलेक्टर काे ज्ञापन साैंपा जाएगा। जयपुर प्रांत मंत्री डॉ. सांवरमल सोलेट ने पत्रकार वार्ता में बताया कि अगस्त माह में संघ की प्रबंध समिति की बैठक हुई।

बैठक में 36 प्रांतों के पदाधिकारी माैजूद रहे। बैठक में तय किया गया कि सरकार 31 अगस्त फैसला लें और किसानाें काे फसल लाभकारी मूल्य दिलाने की व्यवस्था करें, लेकिन सरकार ने काेई फैसला नहीं किया। ऐसे में भारतीय किसान संघ आंदाेलन करने के लिए मजबूर है। आठ सितंबर को कलेक्ट्रेट पर धरना दिया जाएगा।

प्रांत उपाध्यक्ष बलदेव सिंह खंडेला ने बताया कि लाभकारी मूल्य घोषित कर सरकार उपज खरीदें। घोषित मूल्य से कम खरीद काे अपराध माना जाए। भारतीय किसान संघ प्राइवेट बिल के जरिए लाभकारी मूल्य देने संबंधी कानून बनाने की प्रक्रिया प्रारंभ करेगा। जिला उपाध्यक्ष फूलचंद शेषमा ने बताया कि जिला मुख्यालयों पर किसानों द्वारा धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। पत्रकार वार्ता में जिला मंत्री एडवोकेट भरतपाल सिंह ढाका भी माैजूद रहे।

कृषि कानूनों का संशोधनो के साथ समर्थन किया

प्रांत मंत्री डॉ. सांवरमल सोलेट व एडवोकेट बलदेवसिंह खंडेला ने कहा कि भारतीय किसान संघ तीनों कृषि कानूनों को किसानों के हित में मानता है। केन्द्र सरकार की ओर से आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 में सुधार कानून, कृषि ऊपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन एवं सुविधा) कानून, कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण ) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार कानून लाए गए हैं। इन कानूनों को लेकर भारतीय किसान संघ की ओर से चार सुझाव दिए गए हैं। सभी प्रकार की खरीद समर्थन मूल्य पर होने का कानूनी प्रावधान होना चाहिए। निजी व्यापारियों का राज्य एवं केंद्र स्तर पर पंजीयन आवश्यक हो। उनकी बैंक सेक्युरिटी हो, जो एक पोर्टल द्वारा सबके लिए उपलब्ध रहे।

खबरें और भी हैं...