1 लाख की रिश्वत लेते दलाल गिरफ्तार:मुकदमे में नाम हटाने के बदले मांगे थे 2 लाख,1 लाख पहले ले चुका

सीकर2 महीने पहले
आरोपी महिपाल।

सीकर एसीबी ने रविवार को एक लाख की रिश्वत लेते हुए एक दलाल को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। दलाल ने यह रिश्वत जयपुर के चौमूं में अवैध शराब के मुकदमे से नाम हटाने की एवज में मांगी थी। दलाल शनिवार को एक लाख रुपए पहले ही ले चुका था। एसीबी ने आरोपी दलाल को उसके घर से ही गिरफ्तार किया है।

परिवादी राजू जाखड़ ने बताया कि शनिवार सुबह 5 बजे उनके पास सीकर के दासा की ढाणी के रहने वाले महिपाल जाखड़ का इंटरनेशनल नंबर से कॉल आया जिसने राजू जाखड़ को कहा कि जयपुर के चौमू में अवैध शराब के मुकदमे में उनका नाम आया है। आरोपी महिपाल ने राजू को कहा कि उसकी वहां पुलिस अधिकारियों से जानकारी है। ऐसे में वह एफआईआर से राजू जाखड़ का नाम हटवा देगा। जिसके बदले रुपए देने होंगे। आरोपी महिपाल ने 3 लाख रुपए की मांग की। जिसके बाद 2 लाख रुपए में सौदा तय हुआ। एक लाख रुपए कल महिपाल ने अपने परिचित सरपंच उर्फ रामलाल के जरिए सीकर के जयपुर झुंझुनू बायपास पर एक दुकान पर परिवादी राजू जाखड़ से ले लिए। बाकी बचे हुए एक लाख रुपए आरोपी ने रात को 8 बजे देने को कहा। फिर रविवार सुबह घर पर पैसे देने की बात कही।

इसी बीच परिवादी ने एसीबी में शिकायत दी और आज सुबह 9 बजे एसीबी ने आरोपी को उसके घर पर ही एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। एसीबी उप अधीक्षक राजेश जांगिड़ ने बताया कि मामले में कुछ पुलिसकर्मी भी शामिल हो सकते हैं। फिलहाल मामले की इन्वेस्टिगेशन जारी है। आरोपी के घर पर सर्च किया जा रहा है।

दलाल महिपाल ने परिवादी से व्हाट्सएप्प पर इंटरनेशनल नंबर से बात की थी।
दलाल महिपाल ने परिवादी से व्हाट्सएप्प पर इंटरनेशनल नंबर से बात की थी।

1 लाख रुपए लेने के 25 मिनट बाद भेज दी FIR

परिवादी राजू जाखड़ ने बताया कि जिस मुकदमे से उनका नाम हटाने की एवज में आरोपी महिपाल ने रुपए मांगे उसमें वह शामिल भी नहीं थे। हालांकि वह महिपाल से पहले परिचित थे। शनिवार को जैसे ही उन्होंने दोपहर करीब एक बजे एक लाख रुपए महिपाल के आदमी को दिए उसके करीब 25 मिनट बाद ही महिपाल ने राजू जाखड़ को एफआईआर भेजी जिसमें उनका नाम भी नहीं था। राजू जाखड़ झुंझुनूं में शराब और माइंस का काम करते हैं।

यह था मामला

दरअसल जयपुर की चौमू पुलिस ने शनिवार सुबह 7:15 बजे के करीब हरियाणा निर्मित अंग्रेजी शराब के 117 कार्टन ट्रक में फ्रूट्स के डिब्बों के नीचे छिपाकर ले जाते हुए जुगल किशोर योगी को गिरफ्तार किया था।