फतेहपुर में शीतलहर के कारण बढ़ी ठंडक:देर रात से घना कोहरा छाने से विजिबिलिटी हुई कम, किसानों की बढ़ी चिंता

सीकर5 महीने पहले
कोहरा छाने और ओस गिरने से किसानों की फसलों की चिंता सताने लगी है।

प्रदेश में सबसे ठंडे माने जाने वाले फतेहपुर में तेज सर्दी का दौर लगातार जारी है। बीते 2 दिनों में तापमान स्थिर है, लेकिन शीतलहर के चलते ठंड बरकरार रहा। फतेहपुर कृषि अनुसंधान केंद्र में बुधवार सुबह न्यूनतम तापमान 2.7 डिग्री दर्ज किया गया है। इसके पहले मंगलवार को यहां न्यूनतम तापमान 2.7 डिग्री और सोमवार को 1.4 डिग्री दर्ज किया गया था।

इलाके में मंगलवार देर रात से ही घना कोहरा छाया हुआ है, जिसके चलते क्षेत्र में विजिबिलिटी भी काफी कम हो गई है। घने कोहरे के कारण लोग सुबह से ही अपने घरों में कैद है, वहीं सड़कों पर भी वाहनों की आवाजाही कम है। सुबह खेतों में फसलों पर ओस की बूंदें दिखी। लोग सर्दी से बचने के लिए अलाव तापते नजर आए। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो फिलहाल इलाके में एक-दो दिन मौसम शुष्क बना रहेगा। इसके बाद मौसम साफ होने के साथ ही इलाके में तापमान में गिरावट भी दर्ज होने की संभावना है।

कृषि अनुसंधान केंद्र फतेहपुर के बाबूलाल कुमावत ने बताया कि दिसंबर महीने के शुरू होने के साथ ही इलाके में तेज सर्दी का दौर शुरू हुआ। करीब 1 सप्ताह तक मौसम शुष्क रहा, जिसके चलते तापमान में उतार-चढ़ाव भी दर्ज किया गया। इसके बाद शीतलहर चलने के साथ ही तापमान माइनस में भी आ गया। लेकिन इसके बाद फिर तापमान में बढ़ोतरी दर्ज हुई। अभी 2 दिन और मौसम शुष्क बना रहेगा। इसके बाद मौसम साफ होने के साथ ही इलाके में तापमान में गिरावट होने की संभावना है।

कोहरे के साथ ही बढ़ी किसानों की चिंता
फतेहपुर इलाके के किसान कुलदीप ने बताया कि क्षेत्र में तेज सर्दी का दौर लगातार जारी है। ऐसे में यहां घने कोहरा और ओस गिरने की संभावना है। मौसम साफ रहने पर तापमान में गिरावट आने की संभावना है, जो गेहूं, चना, जौ जैसी फसलों के लिए नुकसानदायक है।

कृषि विशेषज्ञ दिनेश कुमार ने बताया कि फतेहपुर में तेज ठंड के साथ ही अब यहां कोहरे और ओस गिरने की भी संभावना है, जिससे फसलों को काफी नुकसान हो सकता है। ऐसे में किसान अपनी फसलों को सुरक्षित रखने के लिए 0.1 प्रतिशत गंधक का उपयोग करें। इसके अलावा नर्सरी आदि में लगे पेड़-पौधों को सुरक्षित रखने के लिए उन पर कवर लगाकर रखें, जिससे कि उनका तापमान 2 से 3 डिग्री तक बढ़ सके।

फोटो और वीडियो-: नरोतम छिरंग, फतेहपुर