पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फर्जी कोरोना लैब:दो बार बयानों के लिए डिप्टी सीएमएचओ के पास गया, लेकिन नहीं मिले : जांच अधिकारी

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लेब से पकड़े गए आरोपी
  • पहले दौरे पर था, बाद में स्टाफ पाॅजिटिव होने से बयान नहीं दे सका : डिप्टी सीएमएचओ
  • स्वास्थ्य विभाग ने नौ अक्टूबर को छापा मारकर पकड़ी थी फर्जी कोरोना लैब, पहले तीन दिन मुकदमा दर्ज नहीं कराया, अब बयानों से बच रहे

शहर के सालासर बस स्टैंड के जोया मार्केट में पकड़ी गई फर्जी कोरोना लैब के मामले को स्वास्थ्य विभाग और पुलिस दबाने के जुट गए हैं। मामले में 11 दिन बाद भी ये पता नहीं लग पाया है कि पकड़े गए दोनों युवकों ने लैब किसके सहयोग से शुरू की थी। सैंपलों की जांच कहा करवाते थे या फिर लोगों को फर्जी जांच रिपोर्ट थमा रहे थे। स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी सीएमएचओ और कोतवाली पुलिस की लापरवाही के चलते यह फर्जीवाड़ा रहस्य बनकर रह गया है।

मामले में दैनिक भास्कर ने डिप्टी सीएमएचओ और कोतवाली पुलिस से सवाल किए। दोनों ने जांच में बरती जा रही ढिलाई को लेकर अलग-अलग तर्क दिए। कोतवाली पुलिस के जांच अधिकारी का कहना है कि वे दो बार सीएमएचओ ऑफिस गए, लेकिन बयानों के लिए डिप्टी सीएमएचओ उपलब्ध नहीं हुए, जबकि डिप्टी सीएमएचओ का कहना है कि ट्यूर, मीटिंग और ऑफिस में पॉजिटिव मरीज आने के चलते बयान नहीं दे सका।

फर्जी लैब पकड़ने वाले डिप्टी सीएमएचओ व स्टाफ के बयान होने के बाद ही आगे बढ़ेगी जांच

हिदायत अली, एएसआई, कोतवाली पुलिस vs डॉ. सीपी ओला, डिप्टी सीएमएचओ, सीकर

सवाल: फर्जी लैब मामले में अभी तक पुलिस ने क्या कार्रवाई की है। एएसआई : मुकदमा दर्ज होने के अगले दिन मैं बयानों के लिए सीएमएचओ ऑफिस गया, लेकिन लैब पकड़ने वाले डिप्टी सीएमएचओ और स्टाफ के बयान नहीं हुए। इसलिए जांच आगे नहीं बढ़ रही है।

  • मामले को 11 दिन बीत गए। फिर भी पुलिस आरोपियों तक नहीं पहुंच रही है।

डिप्टी सीएमएचओ के बयान नहीं होने के कारण मामला अटका हुआ है। बयान होते ही जांच शुरू कर आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जाएंगे।

  • आप कितनी बार डिप्टी सीएमएचओ के बयान लेने सीएमएचओ ऑफिस गए।

लैब पकड़ने वाली टीम में शामिल स्टाफ की आईडी जुटाई। दो बार मैं बयानों के लिए गया, लेकिन वे नहीं मिले।

  • सीएमएचओ ऑफिस गए तो वहां आपको क्या जबाव दिया।

पहली बार कहा गया कि डिप्टी सीएमएचओ ट्यूर पर हैं। दूसरी बार पहुंचा तो बताया कि ऑफिस का स्टाफ पॉजिटिव आ चुका। इसलिए डिप्टी सीएमएचओ के बयान नहीं हो सकते।

  • मामले में पुलिस ने अपने स्तर पर अभी तक क्या कार्रवाई की है।

मामले में बयान दर्ज होने के बाद पुलिस आगे बढ़ पाएगी।

डॉ. सीपी ओला, डिप्टी सीएमएचओ, सीकर

सवाल : फर्जी कोरोना लैब मामले में कोतवाली पुलिस दो बार आपके ऑफिस आ चुकी है। बयान क्यों नहीं हो रहे हैं।
शुरुआत में जब पुलिस आई तो मैं ट्यूर पर गया हुआ था। इसलिए बयान नहीं दे सका।
Q.कोतवाली पुलिस दूसरी बार भी बयान लेने के लिए ऑफिस जा चुकी है। बयान नहीं होने के कारण जांच आगे नहीं बढ़ रही है।
दूसरी बार जब पुलिस बयान लेने के लिए आई तो मैं ऑफिस में नहीं था। क्योंकि ऑफिस में स्टाफ के कोरोना पॉजिटिव होने के कारण परेशानी हो सकती थी। इसलिए बयान नहीं दे पाया।
Q.फर्जी कोरोना लैब पकड़े 11 दिन हो गए। बस आपके बयान नहीं होने के कारण कार्रवाई आगे नहीं बढ़ पा रही है।
सबसे पहले कोरोना संक्रमण को रोकने का दायित्व है। इसलिए व्यवस्थाओं को लेकर लगे रहते हैं। कभी मीटिंग तो कभी दूसरे काम आ जाते हैं।
फर्जी कोरोना लैब मामले में आपके स्तर पर क्या कार्रवाई की।
Q.मौके से दो आरोपियों को पकड़ा था। दोनों से जानकारी ली थी कि आप सैंपल लेने के लिए अधिकृत है या नहीं। दस्तावेज मांगे थे। वो अभी नहीं मिले हैं।
अब आपके बयान कब तक दर्ज होंगे।
पुलिस कभी भी आकर बयान दर्ज कर सकती है। हम भी जांच करवा रहे हैं।

हिरासत में लेकर छोड़ दिया दोनों आरोपियों को, तीन दिन बाद दर्ज कराया था मुकदमा

स्वास्थ्य विभाग ने नौ अक्बटूर को सालासर बस स्टैंड पर जोया मार्केट में कार्रवाई कर दो युवकों मोहम्मद सदीक चौहान अौर मोहम्मद शाहिद को पकड़ा। उन्हें पुलिस को सौंप दिया, लेकिन उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं कराया। इसलिए पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया। दैनिक भास्कर ने मामले को लगातार उठाया तो तीन दिन बाद 12 अक्टूर को मुकदमा दर्ज कराया। अब 11 दिन बीत जाने के बाद डिप्टी सीएमएचओ के बयान दर्ज नहीं हो रहे हैं। इसलिए पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही है।

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से पुलिस को क्या सहयोग नहीं मिल रहा है। इसकी जानकारी लेता हूं। बयान क्यों नहीं हो रहे हैं, ये तो सीएमएचओ ही बता सकते हैं। बिना स्वीकृति लैब व कलेक्शन सेंटर चलाने वालों पर कार्रवाई होगी।
डॉ. रविप्रकाश शर्मा, स्टेट नोडल ऑफिसर, कोरोना
हमारी फर्म के नाम का दुरूपयोग किया गया है। इसे लेकर मैं वकील की राय ले रहा हूं। इसके बाद हम हमारी फर्म के नाम से लैब और कलेक्शन सेंटर चलाने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएंगे।
आशु सूर्यम डायग्नोस्टिक सेंटर, जयपुर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें