पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Dotasara Got The Post Of Congress State President To Become Close To Gehlot And Please The Jats, The Fifth Leader From Shekhawati, Who Got The Post

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अब गोविंदसिंह डोटासरा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष:गहलोत के करीबी होने और जाटों को खुश करने के लिए डोटासरा को मिला कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष का पद, शेखावाटी से पांचवें नेता, जिन्हें यह पद मिला

सीकर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शिक्षामंत्री का पद छोड़ना पड़ सकता है, क्योंकि कांग्रेस में दो पदों पर रहने की परंपरा नहीं है

कांग्रेस में सियासी जंग का सबसे बड़ा फायदा शेखावाटी को मिला। लक्ष्मणगढ़ से विधायक और शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को राजस्थान कांग्रेस का प्रदेशाध्यक्ष बना दिया गया। शेखावाटी से कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बनने वाले वे पांचवें जनप्रतिनिधि हैं। डोटासरा से पहले सीकर के चौधरी नारायण सिंह भी प्रदेशाध्यक्ष रह चुके हैं।  झुंझुनूं से भी तीन जनप्रतिनिधि रामनारायण चाैधरी, चंद्रभान व सरदार हरलाल सिंह प्रदेशाध्यक्ष रह चुके हैं। डोटासरा ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने जो जिम्मेदारी दी है, उसके लिए आभार है। छोटे से कार्यकर्ता को बड़ी इज्जत दी गई है। कांग्रेस की विचारधारा को आगे बढ़ाने और गहलोत के नेतृत्व में सरकार की योजनाएं लोगों तक पहुंचाने के लिए काम करूंगा। अब सबकी नजरें मंत्रिमंडल विस्तार पर है। शेखावाटी के वरिष्ठ विधायक परसराम मोरदिया, राजेंद्र पारीक, महादेव सिंह खंडेला, राजेंद्र गुढ़ा, नरेंद्र बुढानिया को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है।
भाजपा सरकार बनाने की जल्दी में नहीं, केंद्रीय नेतृत्व करेगा फैसला : राठौड़
उप नेता प्रतिपक्ष व चूरू विधायक राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस तिल-तिल कर बिखर रही है। यूथ कांग्रेस, सेवादल सभी भंग हो गए है। मौजूदा सरकार अल्पमत में है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बहुमत साबित करने की स्थिति में नहीं है। भाजपा पूरे सियासी घटनाक्रम पर नजर रखे हुए है। प्रदेश में सरकार बनाने के बारे में निर्णय केंद्रीय नेतृत्व करेगा।

पायलट साइडलाइन, केंद्र में डोटासरा : सत्ता और संगठन दोनों का अनुभव; कुशल वक्ता और हाजिर जवाब, लेकिन चुनौतियां भी कम नहीं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी है और विश्वासपात्र हैं। कांग्रेस जाटों में बड़ा नेता तलाश रही थी। क्योंकि-हनुमान बेनीवाल का प्रभाव इन दिनों बढ़ा है। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी और नरेंद्र बुढानिया का नाम भी प्रदेशाध्यक्ष के लिए चला, लेकिन शेखावाटी के जाटों का विशेष प्रभाव है। इसलिए डोटासरा का नाम सबसे आगे रहा। विधानसभा में भाजपा सरकार के कार्यकाल में डोटासरा ने हर मुद्दे पर सरकार को जोरदार तरीके से घेरा। वे कुशल वक्ता हैं और हाजिरजवाब भी हैं।

  • लंबा अनुभव : लक्ष्मणगढ़ सीट से विधायक चुने गए गोविंद सिंह डोटासरा का राजनीति में लंबा अनुभव है। उन्होंने सत्ता और संगठन दोनों में काम किया है। वे लक्ष्मणगढ़ से तीसरी बार विधायक चुने गए हैं। एक अक्टूबर 1964 को जन्मे डोटासरा ने राजस्थान विश्वविद्यालय से बीकॉम और एलएलबी की पढ़ाई की है। 
  •  क्या चुनौती : प्रदेशाध्यक्ष बनने के बाद सभी कार्यकर्ताओं को साथ लेकर चलना सबसे बड़ी चुनौती होगी। क्योंकि-पायलट को पार्टी से निकालने के बाद कई जगह इस्तीफों का दौर चल रहा है तो कार्यकर्ता दो खेमों में बंट गए हैं। 
  •  राजनीतिक कहानी : डोटासरा विद्यार्थी जीवन में एनएसयूआई जुड़े रहे। जिला कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष किशनसिंह चौहान ने बताया कि 1984 से 1988 तक वे एनएसयूआई के अध्यक्ष रहे। इस दौरान चौहान ने डोटासरा को एनएसयूआई जिला सचिव बनाया। 1988 में चौहान ने यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर फिर डोटासरा को अपनी टीम में शामिल करते हुए उपाध्यक्ष बनाया। यह कार्यकारिणी 1995 तक चली। इसके बाद डोटासरा सक्रिय राजनीति में आ गए। 2005 में लक्ष्मणगढ़ पंचायत समिति में प्रधान पद पर चुनाव लड़ा और जीते। 2008 से डोटासरा विधायक हैं। सात साल तक सीकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष रह चुके हैं। वहीं, विधि प्रकोष्ठ सीकर के कॉर्डिनेटर व कांग्रेस जनरल सेक्रेटरी भी रहे। 

संयोग : भाजपा और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष शेखावाटी से, दोनों जाट
पूर्व विधायक चौधरी नारायणसिंह के बाद डोटासरा सीकर से पीसीसी अध्यक्ष बनने वाले दूसरे नेता हैं। 2013 में विपक्ष में रहने के दौरान डोटासरा को प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया था। 10 सालों में राजनीतिक स्तर पर कई ऊंचाइयां मिली। महज 21 विधायकों वाली विपक्षी कांग्रेस पार्टी की कमान विधानसभा में बतौर मुख्य सचेतक संभाली।
दिलचस्प संयोग है कि भाजपा कांग्रेस दोनों के प्रदेशाध्यक्ष शेखावाटी से हैं और जाट हैं। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां चूरू जिले के हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

    और पढ़ें