पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चार अरोपी अरेस्ट:एक करोड़ के प्लॉट का फर्जी पट्‌टा बनवाया, चार गिरफ्तार, जांच के दायरे में नगर परिषद व सब रजिस्ट्रार

सीकर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिपराली राेड सूर्य नगर में मृत व्यक्ति के नाम फर्जी विक्रय पत्र बनवा दिया

भूमाफिया गिराेह से जुड़े लोगों ने सूर्य नगर स्थिति प्लॉट का फर्जी पट्‌टा बनवा लिया। प्लॉट की कीमत एक करोड़ रुपए बताई जा रही है। भूमाफियाओं ने मृत व्यक्ति के नाम से प्लॉट की फर्जी रजिस्ट्री करवाकर तीन बार बेचान भी करवा लिया। मामले में चार अरोपियों को गिरफ्तार किया है। नगर परिषद के तीन कार्मिक और सबरजिस्ट्रार भी जांच के दायरे में हैं। प्लॉट न्यायिक अधिकारी के परिवारिक सदस्यों का बता रहे हैं। उद्याेग नगर थानाधिकारी पवन चाैबे ने बताया कि गणेश मोड़ रघुनाथगढ़ निवासी भोलाराम ने प्लॉट पर भूमाफियाओं द्वारा दीवार व कमरा तोड़कर कब्जा करने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। ये प्लॉट उसने 1981 में मोतीवाली ढाणी समर्थपुरा निवासी मालाराम से खरीदा था। पुलिस जांच में आरोपी मुकेश सोनी द्वारा पेश किए गए दस्तावेजों की जांच पर फर्जीवाड़ा सामने आया।

मुकेश साेनी, कैलाश तिवाड़ी, मनाेज शर्मा और अशाेक झाझड़िया ने सूर्य नगर में खाली प्लाॅट देखकर उसके फर्जी दस्तावेज तैयार कर नगर परिषद से पट्‌टा जारी करवा लिया। मामले में कैलाश तिवाड़ी पुत्र माेहनलाल शर्मा निवासी हाउसिंग बाेर्ड शिवसिंहपुरा, मुकेश साेनी पुत्र राधेश्याम निवासी पालवास राेड तथा रिश्ते में चाचा भतीजा लगने वाले शिवचंद नायक और चिरंजीलाल नायक निवासी चूड़ी अजीतगढ़ काे गिरफ्तार किया गया है। फरार बदमाशाें की तलाश की जा रही है। नगर परिषद के तीन कार्मिकों की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है।

फरार मास्टर माइंड पहले से है वांटेड

पुलिस ने बताया कि गिराेह का मास्टर माइंड मनाेज शर्मा है। उसने जूताें की दुकान कर रखी है जो फरार है। पूछताछ में फर्जी पट्टाधारी चिरंजीलाल नायक व शिवचंद नायक का कहना है कि उन्हें कैलाशचन्द तिवाड़ी, मनोज शर्मा व मुकेश सोनी ने बताया कि सूर्यनगर मे एक प्लाॅट है। इस पर भोलाराम कुमावत का कब्जा है। नगर परिषद में इस प्लाॅट के खसरा नंबर गलत दर्ज कर दिए हैं। उसके कागजात तैयार करवाकर तुम्हारे नाम पर करवा देंगे। इसके बदले में तुम्हे पैसा भी देंगे।नाेटेरी पब्लिक की हो चुकी है मौत : शिवचंद व चिरंजीलाल ने बताया कि दस्तावेजों पर नोटेरी पब्लिक फूलचन्द माथुर की मुहर लगी थी। जिनकी माैत हो चुकी है।

पुलिस और कोर्ट में लंबित पड़े हैं फर्जी पट्‌टों के एक दर्जन मामले
शहर में नगर परिषद द्वारा फर्जी पट्‌टे जारी करवाने से जुड़े करीब एक दर्जन मामले पुलिस जांच और कोर्ट में लंबित हैं। इनमें से ज्यादा मामले नवलगढ़ रोड और पिपराली रोड से जुड़े हैं। गिरोह के लोगों की नजर लंबे समय से सूने पड़े खाली मकान और प्लॉट पर रहती है। गिरोह के लोग नगर परिषद और सबरजिस्ट्रार ऑफिस के कार्मिकों से मिलीभगत रखते हैं।

खबरें और भी हैं...