पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Farmers Burnt Copies Of Agricultural Bills, Spoke Agitation Will Be Done, Those Who Support Will Not Enter The Village

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खाट पंचायत:किसानों ने जलाई कृषि विधेयकों की प्रतियां, बोले- आंदोलन किया जाएगा, समर्थन करने वालों को गांव में नहीं घुसने देंगे

पलसानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पलसाना में मंगलवार को कांग्रेस सेवादल द्वारा खाट पंचायत सभा का आयोजन किया गया। पलसाना सेवादल अध्यक्ष मदन बिजारणिया ने बताया कि खाट पंचायत सभा में किसान विधेयक बिल की किसानों ने प्रतियां जलाकर बिल का विरोध किया। इस कानून को किसानों के लिए काला कानून बताया।

खाट सभा को सेवादल के जिलाध्यक्ष नरेन्द्र बाटड़, पलसाना ब्लाॅक अध्यक्ष मदन बिजारनिया, दांतारामगढ़ ब्लाॅक अध्यक्ष धर्मवीर मीणा सहित किसानों ने सम्बोधित किया। वक्ताओं ने कहा, केन्द्र की भाजपा सरकार ने इस काले कानून द्वारा किसानों को ठगने का काम किया है। किसान कांग्रेस सेवादल के साथ मिलकर गांव व ढाणी-ढाणी में इस बिल की खामियों को उजागर करेगा। इस बिल में एमएसपी का उल्लेख नहीं किया तथा धन्ना सेठ कंपनियों को खाद्यान्न का अनलिमाटेड स्टाॅक करने की जो कानूनी व्यवस्था दी है, इससे किसान ही नहीं, आम लोग भी ठगे जाएंगे।

इससे कालाबाजारी व महंगाई बड़े स्तर पर होगी। अगर केन्द्र सरकार ने इस बिल को वापस नहीं लिया तो आने वाले दिनों में इस बिल का समर्थन करने वाले नेताओं को गांवों में घुसने नहीं दिया जाएगा। जिलाध्यक्ष बाटड़ ने कहा, इस काले विधेयक के विरोध में किसानों को साथ लेकर सेवादल बड़े स्तर पर ट्रैक्टर रैली का आयोजन करेगा।

सभा के दौरान पूर्व सरपंच रामनारायण बिजारनिया, बनवारीलाल बधाला, रामलाल सिंह, जीवणराम सिंह, भागीरथ सिंह बंटी शर्मा, सुभाष राव, सेवादल तहसील प्रभारी इस्लामुद्दीन खोखर, जीतू भोजासर, विजयपाल कुमावत, सागरमल बिजारनिया, सहित कई किसान व सेवादल कार्यकर्ता उपस्थिति थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें