• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Government Will Check The Health Of 12 Oxygen Plants In The District On 9 10th, Visit The Site And See The Situation

अधूरा है चार प्लांट का काम:सरकार 9-10 तारीख को जांचेगी जिले के 12 ऑक्सीजन प्लांट्स की सेहत, साइट पर जाकर देखी स्थिति

सीकर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के इंतजामों पर बड़ी ग्राउंड रिपोर्ट। - Dainik Bhaskar
कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के इंतजामों पर बड़ी ग्राउंड रिपोर्ट।

कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। लगातार संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। शुक्रवार काे एक ही दिन में 38 नए मामले सामने अाए। जनवरी में अब तक 100 मरीज सामने अा चुके हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक संक्रमित बताया गया है। इससे पहले एक दिन में सबसे ज्यादा 5 जनवरी को 36 संक्रमित मिले थे। इधर, शुक्रवार काे जारी रिपाेर्ट में सीकर शहर में 14, दांतारामगढ़ में 12 संक्रमित अाए। इसके बावजूद सिस्टम की धीमी रफ्तार बनी हुई है।

हालात ये है कि जिले में मंजूर हुए 12 ऑक्सीजन प्लांट में से चार का काम पूरा नहीं हो पाया है। राहत की बात यह है कि पलसाना में सबसे बड़ा प्लांट तैयार है। नीमकाथाना-सीकर जैसे बड़े अस्पतालों में प्लांट का संचालन हो रहा है। इस बीच चिकित्सा विभाग के प्रमुख सचिव वैभव गालरिया ने बताया कि प्रदेश के 360 स्वास्थ्य केंद्रों में विकसित किए गए मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर की ऑडिट के लिए 104 टीम गठित की गई है।

गालरिया ने सभी कलेक्टरों को अपने जिलों में 9 व 10 जनवरी को नए ऑक्सीजन प्लांट की मॉक ड्रिल करने के निर्देश दिए हैं। ये निर्देश आने के बाद भास्कर ने जरूरी संसाधनों पर ग्राउंड रिपोर्ट की। इसमें कई जगह खामियां सामने आई। समय रहते इन्हें दुरुस्त नहीं किया तो परेशानी होना तय है।

प्लांट के काम की देखरेख कर रहे विशेषज्ञों ने बताया-कहां, क्या काम है बाकी
श्रीमाधोपुर में वैक्यूम एयर पाइप लाइन का काम पूरा नहीं
स्थानीय सीएचसी में ऑक्सीजन प्लांट अभी तक शुरू नहीं हो सका है। सीएचसी में निर्मित प्लांट में अभी तक वैक्यूम एयर पाइप लाइन का काम पूरा नहीं हो पाया है। एक महीने से टेस्टिंग कार्य चल रहा है। प्लांट में डीजी सैट भी नहीं है। इससे ऑक्सीजन प्लांट शुरू नहीं हो सका। सीएचसी प्रभारी डॉ. राजेश मंगावा ने बताया कि ठेकेदार को जल्द कार्य पूर्ण करने के लिए बार-बार कहा जा रहा है। पांच महीने बाद भी काम पूरा नहीं हो पाया है। 30 बेड को ऑक्सीजन पाइप लाइन से जोड़ा जा रहा है।

खंडेला में ऑक्सीजन प्लांट का काम पूरा नहीं, फर्म ब्लैक लिस्ट
अक्टूबर में ऑक्सीजन प्लांट का काम शुरू हुआ था। अभी तक मनिफोल्ड रूम, ऑक्सीजन पाइप लाइन, वैक्यूम व एयर लाइन का काम पूरा नहीं हुआ है। सीएचसी प्रभारी डॉ. कैलाश चौधरी ने बताया कि लगातार खामियां मिलने पर एक फर्म ब्लैक लिस्ट की जा चुकी है। नई फर्म को टेंडर दिया गया है। एक-दो दिन में दोबारा शुरू काम होगा। सीएचसी में 35 सिलेंडर क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट प्रस्तावित है।
कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है। एक्सपर्ट्स सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी अफसरों को कोविड प्रोटोकॉल की पालना के लिए कह चुके हैं। फिर भी लापरवाही बढ़ती जा रही है।

सीकर जिले में प्रमुख अफसर, पार्टियों के पदाधिकारी और आम जनता कोविड प्रोटोकॉल की अनदेखी कर रही है। राजस्थान राजस्व मंत्रालयिक संघ की ओर से शुक्रवार को मुख्यमंत्री के नाम 15 सूत्रीय ज्ञापन कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी काे दिया गया। इस दौरान कलेक्टर चतुर्वेदी बिना मास्क के ज्ञापन लेते हुए नजर आए। जयदीप सिंह की अध्यक्षता में ज्ञापन देने गए प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहे ज्यादातर लोगों ने मास्क नहीं लगा रखे थे। जब कलेक्टर खुद ही मास्क नहीं लगा रहे हैं तो वे आम जनता से इस बारे में समझाइश कैसे करेंगे?

रींगस में वैक्यूम लाइन का काम बाकी, आज होगी मॉक ड्रिल
रींगस सामुदायिक केंद्र में 50 सिलेंडर प्रतिदिन क्षमता को ऑक्सीजन प्लांट तैयार किया जा रहा है। यहां 11 बेड तक पाइप लाइन से ऑक्सीजन सप्लाई की जानी है। डाॅ. विनोद गुप्ता ने बताया कि प्लांट का पूरा काम हो चुका है, लेकिन वैक्यूम लाइन का काम अभी बाकी है।

शनिवार को प्लांट की मॉक ड्रिल की जाएगी।
लोसल में पॉवर लाइन में खामी, जनरेटर भी अटैच नहीं : सीएचसी पर ऑक्सीजन प्लांट लगाया जा चुका है, लेकिन काम अभी तक पूरा नहीं हुआ है। यहां पॉवर लाइन में गड़बड़ी के कारण पावर सप्लाई में दिक्कत सामने आ रही है। वहीं जनरेटर भी अटैच नहीं किया है। ऐसे में फिलहाल प्लांट से ऑक्सीजन सप्लाई शुरू नहीं हुई है। जरूरत पड़ने पर मरीजों को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर लगाए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...