• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • How Strong Are The Miscreants That They Entered The House To Gang rape The Minor, On Protesting, Hanged Him From The Fan, His Brother's Arrival Saved His Life On Time, Case Registered

रेप नहीं कर पाए तो नाबालिग को फंदे पर लटकाया:15 साल की लड़की ने दोस्ती से मना किया तो दो दोस्तों के साथ घर में घुसकर युवक ने गैंगरेप और जान से मारने की कोशिश की

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीकर में घटना के दो दिन बाद हालत में सुधार होने पर मां के साथ आकर पीड़िता ने थाने में मामला दर्ज कराया। - Dainik Bhaskar
सीकर में घटना के दो दिन बाद हालत में सुधार होने पर मां के साथ आकर पीड़िता ने थाने में मामला दर्ज कराया।

सीकर में 15 साल की एक किशोरी ने दुष्कर्म और जान से मारने की कोशिश का मामला दर्ज कराया है। किशोरी ने पुलिस को बताया- कुछ दिन पहले वह रिश्तेदार की शादी में गई थी। एक युवक पीछा करने लगा। उससे जबरन बात करने के लिए दबाव बनाने लगा। उसने बात करने से मना किया तो एक दिन आरोपी युवक अपने दो और दोस्तों के साथ घर में घुस गया। उसके साथ ज्यादती का प्रयास करने लगा तो पीड़िता ने शोर मचा दिया। युवकों ने उसके गले में चुन्नी का फंदा डालकर पंखे से लटका दिया।

गनीमत रही कि उसके ताऊ का लड़का किसी काम से घर में आया था। बहन को पंखे से लटके देख उसे तुरंत उतारा। परिजन को बुलाकर अस्पताल लेकर पहुंचा। इससे उसकी जान बच गई। होश में आने पर नाबालिग को लेकर परिजन थाने पहुंचे। नाबालिग ने रामगढ़ शेखावाटी थाने में आरोपी युवकों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट, जानलेवा हमला समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मामले में जांच कर रही है।

शादी में आया, किशोरी के पीछे पड़ गया
थानाधिकारी उमाशंकर ने बताया कि दीनवा तहसील मण्डावा निवासी धर्मेन्द्र पुत्र बुधराम मेघवाल अपनी बुआ के लड़के की शादी में ठिमोली आया हुआ था। इस दौरान किशोरी से दोस्ती करने के लिए कहने लगा। यहां तक की चोरी छिपे मोबाइल से नाबालिग की फोटो खींच ली। इसके बाद लड़की पर दोस्ती करने का दबाव बनाने लगा।

4 अगस्त को नाबालिग अकेली थी। मां पिता खेत में गए हुए थे। इस दौरान धर्मेंद्र अपने दोस्त मनोज कुमार और किशोर कुमार के साथ घर में आया। धर्मेंद्र ने नाबालिग के साथ रेप का प्रयास किया, इस पर पीड़िता चिल्लाने लगी तो गुस्से में युवकों ने उसके गले में कपड़े का फंदा बनाकर डाल दिया। पंखें से लटका दिया।

पीड़िता के बयानों के मुताबिक इस दौरान उसके ताऊ का बेटा आ गया। उसको पंखे से लटका देखकर पहले तो उतारा और फिर घरवालों को सूचना दी। इसके बाद उसे लेकर इलाज के लिए फतेहपुर ले गए जहां से उसे गंभीर स्थिति में सीकर रेफर कर दिया गया। सीकर में दो दिन बाद हालत में सुधार होने पर मां के साथ आकर थाने में मामला दर्ज कराया।

खबरें और भी हैं...