• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • If Loved Ones Harassed, 13 Complaints Were Given To The Police And SDM In 3 Years, If They Did Not Listen, Then The Elderly Gave Their Lives.

आत्महत्या:अपनों ने सताया तो पुलिस व एसडीएम को 3 साल में दी 13 शिकायतें, सुनवाई न हुई तो बुजुर्ग ने दी जान

श्रीमाधोपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • श्रीमाधाेपुर में ट्रेन से कटकर की आत्महत्या, शव के पास मिले सुसाइड नोट में लिखी अपनी पीड़ा

अपने ही परिवार के लोगों की प्रताड़ना से पीड़ित बुजुर्ग ने पुलिस थाना श्रीमाधोपुर व उपखंड कार्यालय में तीन सालों में 13 शिकायतें दी। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं होने से आहत होकर वृद्ध ने बुधवार देर शाम को ट्रेन के नीचे आकर आत्महत्या कर ली। मानपुरिया फाटक से रींगस की ओर रेलवे पटरियों पर वृद्ध के आत्महत्या करने के बाद लोगों ने इसकी सूचना श्रीमाधोपुर पुलिस को दी, लेकिन मामला जीआरपी थाने का होने पर मौके पर रींगस जीआरपी पहुंची और शव को श्रीमाधोपुर सीएचसी की मोर्चरी में रखवाया।

मौके पर रींगस जीआरपी को मृतक 72 वर्षीय भगवाना राम सैनी निवासी ढाणी मंदिर तन पृथ्वीपुरा द्वारा उपखंड अधिकारी श्रीमाधोपुर के नाम लिखा हुआ पत्र भी मिला है। उसमें भगवानाराम ने लिखा है कि उसकी पत्नी बिदामी देवी व उसके पुत्र व पुत्रवधुओं द्वारा उसे खाना नहीं दिया जाता तथा उसके साथ मारपीट की जाती है। तीन वर्षों में उसने 13 बार उपखंड कार्यालय श्रीमाधोपुर व पुलिस थाना श्रीमाधोपुर में इसकी शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। दुखी होकर आज आखिरी रिपोर्ट दे रहा हूं। पत्र में लिखा है कि उसकी पत्नी व परिवार के लोग उसे खाना नहीं देते है तथा अपंग होने के कारण पानी तक लाने में सक्षम नही हूं। घरवालों की पिटाई के कारण उसके हाथ-पैर भी खराब हो चुके हैं तथा इलाज कराने वाला कोई नहीं है। 29 सितंबर को सुबह सात बजे जब वह अपने कमरे में चाय पी रहा था तो परिवार के लोग एक राय होकर आए और मारपीट की। इधर, जीआरपी चौकी रींगस के हैड कांस्टेबल रामावतार मीणा ने बताया कि बुधवार रात को मृतक के भाई पूर्व सरपंच रामजीलाल सैनी ने शव देखकर शिनाख्त की है। पोस्टमार्टम गुरुवार को सुबह होगा।

पुलिस ने कहा- मौके पर मिले शिकायती पत्र पर संदेह, मामले की जांच करेंगे

भगवाना राम सैनी द्वारा एसडीएम के नाम लिखा गया शिकायती पत्र जीआरपी को लाश के पास मिला। पुलिस का कहना है कि पत्र 29 सितबंर को ही लिखा हुआ है तथा तीन दिन में प्रताड़ित करने वालों पर कार्रवाई नहीं होने पर आत्महत्या करने की बात लिखी है, लेकिन तीन दिन पहले बुधवार को ही वृद्ध ने ट्रेन के नीचे आकर अपनी जान दे दी, जो संदेह पैदा करता है। पुलिस का कहना है कि मौके पर मिले भगवानाराम द्वारा हस्ताक्षरित शिकायती पत्र की जांच की जाएगी।

पहले कोई शिकायत दी है तो जांच कराएंगे- एसडीएम

श्रीमाधोपुर एसडीएम दिलीपसिंह राठौड़ का कहना है कि आज सुबह मैं किसी काम से बाहर था। रात को ही लौटा हूं। दिनभर में ऐसी कोई शिकायत नहीं आई। बुजुर्ग की ओर से यदि कार्यालय में पहले ऐसी किसी प्रकार की कोई शिकायत दी गई है तो फाइल दिखवाएंगे। यदि ऐसा पाया गया तो मामले की त्वरित गति से जांच करवाई जाएगी।

दोपहर को दी थी थाने में शिकायत- थानाधिकारी
थानाधिकारी करण सिंह खंगारोत ने कहना है कि वे राज कार्य से बाहर गए थे। पुलिस थाने में ड्यूटी अधिकारी रामसहाय एएसआई के पास मृतक भगवानाराम बुधवार दोपहर को उपस्थित हुआ था व परिजनों द्वारा प्रताड़ित करने की शिकायत दी थी। वृद्ध द्वारा सुसाइड करने की सूचना के बाद इसकी जानकारी उन्हें हुई है। मामले की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...