• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • In Case Of Misuse Of The Post, The Former Sarpanch Of The Milkmen Will Not Be Able To Contest Elections For 5 Years.

चुनाव के लिए अपात्र घाेषित:पद के दुरुपयोग के मामले में दूधवालों का बास पूर्व सरपंच 5 साल तक नहीं लड़ सकेगी चुनाव

सीकर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो
  • पद का दुरुपयाेग कर नियम विरुद्ध वारिसनामा प्रमाण पत्र जारी किया था

संभागीय आयुक्त डॉ समित शर्मा जयपुर ने खंडेला के दूधवालों का बास की पूर्व सरपंच अभिलाषा काे पद का दुरुपयोग कर नियम विरुद्ध वारिस नामा प्रमाण पत्र जारी करने के मामले में पांच साल तक चुनाव के लिए अपात्र घाेषित किया है। ग्रामीणों ने 2019 में पूर्व सरपंच अभिलाषा के खिलाफ पद का दुरुपयोग कर नियम विरुद्ध वारिस नामा प्रमाण पत्र जारी करने के संबंध में संभागीय आयुक्त को शिकायत दर्ज करवाई थी। संभागीय आयुक्त ने खंडेला एसडीओ से प्रारंभिक जांच करवाई।

जांच के आधार पर संभागीय आयुक्त ने पूर्व सरपंच को दोषी मानते हुए आरोप पत्र थमाया तथा जिप सीईओ से विस्तृत जांच करवाई। वारिसनामा जारी करना अवैध पाए जाने पर संभागीय आयुक्त ने पूर्व सरपंच को आगामी पांच साल की अवधि तक चुने जाने के अपात्र घोषित किया है।

अधिवक्ता संदीप कलवानिया ने बताया कि शिकायत के बावजूद प्रकरण में विभागीय कार्रवाई नहीं होने से हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। पूर्व सरपंच अभिलाषा के सास-ससुर मुरारी लाल एवं ललीता भी दुधवालों का बास के सरपंच पद पर रह चुके हैं। उन्हें भी दूसरे मामलों में 2017 में पांच साल के लिए अयोग्य घोषित कर दिया था।

खबरें और भी हैं...