• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • In order to eradicate the evidence of oil theft, the police removed the burnt twigs of the trees and the soil, parked the tanker out of the building.

पुलिस की मिलीभगत / तेल चोरी के सबूत मिटाने के लिए पुलिस ने पेड़ों की जली टहनियां टाइलें और मिट्‌टी हटवाई, टैंकर को ढाबे से बाहर खड़ा कर दिया

In order to eradicate the evidence of oil theft, the police removed the burnt twigs of the trees and the soil, parked the tanker out of the building.
X
In order to eradicate the evidence of oil theft, the police removed the burnt twigs of the trees and the soil, parked the tanker out of the building.

  • सीओ सिटी को ड्राइवर ने कहा-कुछ नहीं हुआ, गोविंदगढ़ सीओ की जांच में जली हुई टाइलें, जली मिट्‌टी भी मिली

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:06 AM IST

सीकर. नेशनल हाइवे-52 पर बावड़ी के पास बने बालाजी ढाबे में तेल चोरी के खेल की पूरी कहानी फिल्मी है। टैंकर में आग लगने और इसके सबूत मिटाने का स्क्रीनप्ले पुलिस ने ही लिखा। इसे समझने के लिए 10 मई को दोपहर 2 बजे हुए हादसे को समझना होगा। बालाजी ढाबे पर एचपी का टैंकर आकर रुकता है और हमेशा की तरह तेल चोरी शुरू होती है। ढाबा संचालक महावीर ग्लाइंडर की मदद से टैंकर का ढक्कन काटना शुरू करता है।

इसी दौरान टैंकर में आग लग जाती है महावीर टैंकर के नीचे उतरने की कोशिश करता है। तभी वहां पड़े जरीकन में उसका पैर फंस जाता है। जिससे आग और भड़क जाती है। वह आग की चपेट में पूरी तरह आ जाता है और उसकी मौत हो जाती है। आग कैबिन तक पहुंच जाती है। खलासी और चालक भी चपेट में आ जाते हैं और खलासी की भी मौत हो जाती है। सूचना पर दमकल पहुंचती है और आग बुझाने की कोशिश करने लग जाती है। इसी दौरान पुलिस मौके पर पहुंचती है। 
पुलिस को पता था कि ढाबे पर तेल चोरी का खेल होता था। पुलिस तेल चोरी के सबूत मिटाने के लिए नई स्क्रिप्ट लिखती है। जिस टैंकर से तेल चोरी हो रहा था, उसे ढाबे के बाहर खड़ा कराया जाता है। जले हुए पेड़ की टहनियां कटवाई जाती है। जली मिट्‌टी पर नई मिट्‌टी डलवाई जाती है।

मिट्‌टी से तेल की बदबू नहीं आए, इसलिए पानी डलवाकर उस पर गाड़ियां चलवाई जाती है। दीवार की जली हुई टाइल को तुड़वा दिया जाता है। पुलिस रात 11:25 बजे तेल चोरी का मुकदमा दर्ज करती है। मुकदमा एचएम की तरफ से दर्ज होना चाहिए, लेकिन मुकदमा अन्य व्यक्ति यादराम यादव के नाम दर्ज किया गया।

पुलिस से यही एक चूक हो गई। जब दमकल आग बुझा रही थी, उसी दौरान कुछ लोग वीडियो भी बना रहे थे। ये वीडियो दूसरे दिन सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। मामला आईजी एस सिंगाथीर तक पहुंच गया। उन्होंने मामले की जांच गोविंदगढ़ सीओ संदीप सारस्वत को दी।

उन्होंने जांच में खुदाई शुरू की तो पुलिस के खिलाफ सभी सबूत मिलते गए। इस मामले में रींगस सीओ बलराम सिंह मीणा को एपीओ कर दिया गया। जबकि एसएचओ श्रीचंद व हैड कांस्टेबल हरिसिंह को सस्पेंड कर दिया गया। अभी यह पता लगाया जा रहा है कि तेल चोरी में पुलिस का कितना कमीशन था।

10 मई की घटना के दिन सीओ सिटी वंदिता राणा माैके पर पहुंची तो उनके ड्राइवर ने कहा कि यहां कुछ नहीं हुआ है और सीओ को वह सीकर वापस ले आया। चालक पहले रींगस थाने में ड्यूटी दे चुका था। गोविंदगढ़ सीओ संदीप सारस्वत को जांच में माैके से एक एसआर कंपनी का टैंकर मिला। इसमें आठ हजार लीटर डीजल मिला।  
खुदी हुई मिट्टी में डीजल व माैके से एक पंप सैट, जिसके जरिए तेल चाेरी किया जाता था वह बरामद हुआ है। पुलिस को जली हुई टाइलें भी मिल गई। एक डीजल टैंक में तेल ताे नहीं मिला, लेकिन उसके चारों तरफ डीजल फैला मिला। पुलिस ढाबा संचालक के भाई श्रवण की भूमिका काे भी संदिग्ध मान रही है।
10 मई को मैकेनिक नहीं था, इसलिए ढाबा संचालक चुरा रहा था तेल 
10 मई काे मैकेनिक नहीं हाेने के कारण महावीर खुद डीजल चोरी की कोशिश में जुट गया। ट्रैकर में पांच अलग-अलग खानाें में 20 हजार लीटर डीजल व पांच हजार लीटर पेट्रोल था। एचपीसीएल की पहली जांच रिपाेर्ट में तेल चाेरी हाेना पाया गया, कितना चाेरी हुआ इसकी काेई जानकारी नहीं दी गई। पुलिस ने दुबारा से रिपाेर्ट मांगी है। एसओजी ने सीकर एसपी से तेल चोरी पर रिपोर्ट मांगी, लेकिन उन्होंने इस तरह की गतिविधि से इनकार कर दिया। 
मकानों के बीच ढाबा इसीलिए बनाया गया ताकि कोई शक नहीं करें 
हादसे में ढाबा संचालक महावीर और हेल्पर रेवत सिंह की माैत हाे चुकी है। चालक विक्रम सिंह और संचालक के साथी हरलाल का इलाज चल रहा है। पुलिस मौके से फरार एक और साथी की तलाश कर रही है। टैंकरों में जीपीएस हाेने के कारण चाेरी का पता चल जाता था। इसलिए मकानों के बीच एक साल पहले ही ढाबे को बनाया गया। महावीर काे पहले रेलवे का तेल चाेरी करने के मामले में भी गिरफ्तार किया गया था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना