सीकर में लोग गंदा पानी पीने को मजबूर:रूबरू कार्यक्रम में लोग बोले ; सालों से नगर परिषद नहीं कर पा रही समस्याओं का समाधान

सीकर3 महीने पहले
लोगों की समस्या पर जवाब देते हुए अधिकारीगण।

सीकर शहर के हर वार्ड की समस्याओं को अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों तक पहुंचाने के लिए दैनिक भास्कर समूह की ओर से शुरू किए गए रूबरू कार्यक्रम का आयोजन अखिल भारतीय स्कूल में किया गया। कार्यक्रम में 5, 6, 9, 10, 11 और 13 के लोगों ने पार्षदों और अधिकारियों को अपनी वार्ड की समस्याओं के बारे में बताया।

आज के कार्यक्रम में सम्मिलित किए गए वार्ड सीकर के घनी आबादी वाले वार्ड हैं जिनमें मुख्य तौर पर सफाई, टूटी हुई सड़कों, गंदे पानी की सप्लाई की समस्या का मुद्दा मुख्य रूप से रहा। लोगों का कहना है कि पार्षद वार्ड के लोगों की वकालत करने के बजाए सरकारी विभागों के अधिकारियों का पक्ष ज्यादा लेते हैं। नगर परिषद सालों से कई समस्याओं का समाधान नहीं कर पा रही है।

सीवरेज के चैंबर कई सालों से कवर नहीं हुए

वार्ड नंबर 11 के मोहम्मद सलीम तंवर ने बताया कि इलाके में सीवरेज के चेंबर कई जगह खुले हैं। जहां चेंबर पर कवर लगे हुए हैं। उनका रोड से लेवल काफी ऊंचा है। सीवरेज की लाइन डालने के लिए सड़क तो खुद ही गई लेकिन वापस रिपेयर नहीं की गई। वार्ड में कई जगह बिजली के तार लटक रहे हैं। ऐसे में कोई बड़ा हादसा कभी भी हो सकता है। सांसद और विधायकों के चुनाव के समय भी प्रत्याशियों को इस बारे में बताया गया लेकिन दो-तीन साल बीत जाने पर भी आज तक कोई ध्यान नहीं दिया गया है।

नगर परिषद के राजस्व अधिकारी महेश कुमार का जवाब : सीवरेज के चैंबर रोड के लेवल नहीं बल्कि फ्लो के हिसाब से बनाए जाते हैं। काम पूरा होने के बाद पानी का फ्लो चैक करने के बाद ही चैंबर को कवर किया जाता है। और चैंबर का रोड से लेवल किया किया जाता है। अभी तक शहर में सीवरेज का काम पूरा नहीं हो पाया है। जब काम पूरा होगा तो यह समस्या दूर हो जाएगी।

वार्ड 6 में गंदा पानी पीने से बीमारी हुए बच्चे

वार्ड नंबर 6 के निवासी अब्दुल लतीफ बिस्ती ने कहा कि मोहल्ले में पिछले करीब 20 दिन से गंदा पानी आ रहा है। हालात यह हो चुके हैं कि कई बच्चे बीमार हो गए हैं। लोगों को पीने के पानी के लिए घरों में वाटर प्यूरीफायर मशीन लगानी पड़ रही है। हालात यह है कि लोग सरकारी पानी नहीं पीना चाहते हैं। कई बार जलदाय विभाग के अधिकारियों को अवगत करवा दिया गया। लेकिन आज तक कोई चैकिंग करने भी नही आया है।

जलदाय विभाग की अधिकारी नव्या चौधरी का जवाब : मामले को लेकर शिकायत मिली थी। चैकिंग करवाई जा रही है। गंदा पानी वाटर सप्लाई का नहीं बल्कि सीवरेज का है। जो मिक्स हो रहा है। पूरी सप्लाई चैक की जाएगी। जिससे पता चल सके कि कहां लीकेज होने के कारण सीवरेज का पानी जलदाय विभाग की वाटर सप्लाई में आ रहा है।

वार्ड नंबर 5 में नाले पर ही लगा दिया ट्रांसफर्मर।
वार्ड नंबर 5 में नाले पर ही लगा दिया ट्रांसफर्मर।

नाले पर ही लगा दिया ट्रांसफार्मर,हमेशा हादसे का खतरा

वार्ड नंबर 5 के प्रेम सिहोतरा ने बताया कि उनके घर के 1 फुट नजदीक ही नाले पर बिजली विभाग ने ट्रांसफार्मर लगवा दिया है। आसपास के एक दर्जन घर ऐसे हैं। जिनका यह आम रास्ता है। ऐसे में हमेशा हादसे का डर रहता है।

बिजली विभाग के जेईएन हरेंद्र बाजिया का जवाब : मामले की जानकारी विभाग को दी जाएगी। ट्रांसफार्मर को दूसरी जगह शिफ्ट करवाने के लिए काम शुरू किया जाएगा।

वार्ड नंबर 6 निवासी इरशाद बहलीम।
वार्ड नंबर 6 निवासी इरशाद बहलीम।

हमेशा नालियां ओवरफ्लो, सड़कें टूटीं और गंदे पानी की सप्लाई

वार्ड नंबर 6 के इरशाद बहलीम ने बताया कि पिछले करीब 2 सप्ताह से भी ज्यादा समय से वार्ड में गंदे पानी की सप्लाई हो रही है। पार्षद को भी इस बारे में अवगत करवा दिया गया। लेकिन अभी तक कोई विभाग का अधिकारी चैकिंग करने के लिए नहीं आया है। सफाई के नाम पर केवल नालियों के 1-2 कवर हटाकर नाली साफ कर दी जाती है। बाकी नालियां ओवरफ्लो ही रहती हैं। ट्रिपिंग होने के चलते दो 2 घंटे तक पावर कट रहता है। इलाके में एक कॉलेज के सामने ही बिजली का ट्रांसफार्मर लगा दिया गया है। हमेशा लोगों को हादसे का डर रहता है।

नगर परिषद के राजस्व अधिकारी महेश कुमार राव का जवाब : सफाई का काम कल से शुरू करवा दिया गया जाएगा।

जलदाय विभाग की नव्या चौधरी का जवाब : वार्ड के पानी के सैंपल लिए जा रहे हैं। वाटर सप्लाई लाइन में सीवरेज के पानी मिक्स होने के प्वाइंट का पता कर इसे ठीक करवाया जाएगा।

बिजली विभाग के हरेंद्र बाजिया जवाब : पॉवर कट की समस्या को जल्द ही ठीक किया जाएगा। ट्रांसफार्मर को शिफ्ट करने के बारे में विभाग से चर्चा की जाएगी।

वार्ड नंबर 11 निवासी शरीफ चौहान।
वार्ड नंबर 11 निवासी शरीफ चौहान।

बकरा मंडी इलाके में नवलगढ़ रोड से भी बुरे हालात

वार्ड नंबर 11 के शरीफ चौहान ने बताया कि मौहल्ला व्यापारियान में गंदा पानी आ रहा है। अभी तक जलदाय विभाग ने यहां जांच तक नहीं की है। बारिश के दौरान बकरा मंडी इलाके का पानी दीन मोहम्मद रोड से बूच्यानी की तरफ जाना चाहिए। लेकिन बूच्यानी की तरफ का पानी बकरा मंडी इलाके में आ रहा है। बारिश के दौरान यहां घंटों तक नवलगढ़ रोड से भी ज्यादा जलभराव की स्थिति रहती है। बारिश नहीं होने पर भी नालियां हमेशा ओवरफ्लो ही रहती है। सीवरेज के काम के लिए सड़क खोद दी गई लेकिन वापस नहीं डाली गई। समस्याओं को लेकर नगर परिषद और पार्षद को कई बार बता दिया गया। लेकिन कोई भी सुनवाई करने वाला नहीं है। कुछ नालियों पर फेरो कवर भी नहीं लगाए हैं। इस बारे में एईएन वाहिद को फोन करते हैं तो वह फोन तक नहीं उठाते हैं। घर का पट्टा भी नही बना है। वार्ड में एक बिजली के पोल पर करंट रहता है। विभाग की तीनो गाड़ियों को फोन करते हैं। लेकिन नंबर ही बंद रहते हैं

नगर परिषद के राजस्व अधिकारी महेश कुमार का जवाब : जलदाय विभाग गंदे पानी की सप्लाई के बारे में जांच कर रहा है। मोहल्ले में सफाई का काम कल से सुचारू रूप से शुरू कर दिया जाएगा। वहीं यदि मकान के डॉक्यूमेंट से पूरे हैं तो स्टेट ग्रांट का पट्टा आराम से बनेगा। वैसे भी सीकर नगर परिषद पट्टे जारी करने में पूरे प्रदेश में पहले नंबर पर है।

बिजली विभाग के जेईएन हरेंद्र बाजिया का जवाब : बिजली विभाग की टीम जांच करने के लिए आती है तो वहां लोग उनका विरोध करते हैं। यदि स्टाफ का कोई मेंबर फोन नहीं उठाता है तो मुझे फोन करें। तुरंत काम शुरू किया जाएगा।

वार्ड नंबर 5 निवासी मोहम्मद अली खत्री।
वार्ड नंबर 5 निवासी मोहम्मद अली खत्री।

6 साल से ड्रेनेज नाला ब्लॉक

वार्ड नंबर 5 के मोहम्मद अली खत्री ने कहा कि वार्ड में सीवरेज का काम पूरा हो गया है। फिर भी नालियां हमेशा भरी रहती है। बकरा मंडी इलाके में बारिश के दौरान घंटों तक के करीब 2 से 3 फुट पानी भरा रहता है। बीते 8 साल से कोई भी अधिकारी या नेता सुध लेने वाला नहीं है। दीन मोहम्मद रोड पर चौहान टेंट हाउस के पास ड्रेनेज का नाला नगर परिषद ने ब्लॉक कर दिया। जब इस बारे में नगर परिषद के अधिकारियों को बताया गया तो उन्होंने कहा कि बारिश के बाद काम शुरू कर दिया जाएगा। इस बात को 6 साल बीत चुके हैं। लेकिन अभी तक ड्रेनेज का नाला ब्लॉक ही पड़ा है। नगर परिषद मानसून से पहले तैयारियां करने की बात कहती है लेकिन 6 साल में उन्हें ड्रेनेज का नाला वापस शुरू करने की नही सूझी।

नगर परिषद के राजस्व अधिकारी का जवाब : परिषद में शिकायत लिखित में जमा करवाएं। जिससे शिकायत पर होने वाली कार्रवाई का पता चल सकेगा। वार्ड में अभी पूरे सीवरेज के कनेक्शन नहीं हुए हैं। ऐसे में नालियों को कवरिंग करने का काम बाकी है। सभी कनेक्शन पूरे होने पर इस समस्या का हल हो जाएगा। साथ ही ड्रेनेज नाले के ब्लॉक को भी एक दो दिन में काम शुरू कर खुलवाया जाएगा।

वार्ड में एक दर्जन घरों के बाहर सड़क नही

वार्ड नंबर 4 के अख्तर अली ने कहा कि वार्ड में मोहम्मद अली के घर से मुन्नी बाई के घर तक रोड नहीं बनी है। जब इस बारे में पार्षद को बोलते हैं तो जवाब मिलता है कि बजट खत्म हो गया है।

नगर परिषद के राजस्व अधिकारी महेश कुमार राव का जवाब : सड़क निर्माण की प्रक्रिया लंबी है। नगर परिषद के उच्च अधिकारियों को इस बारे में बताया जाएगा। इसके बाद टेंडर जारी कर जल्दी काम शुरू किया जाएगा।