पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लखदातार के दर्शन आज से:117 दिन बाद खुलेगा खाटूश्यामजी मंदिर, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से सुबह 7 से रात 8 बजे तक होंगे दर्शन

सीकर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रोज सिर्फ 12 हजार श्रद्धालु कर सकेंगे दर्शन

खाटूश्यामजी मंदिर 117 दिन बाद गुरुवार से श्रद्धालुओं के लिए खुल जाएगा। वैक्सीन की पहली डोज लगा चुके या 72 घंटे के दौरान की आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लाने वाले श्रद्धालु ही दर्शन कर पाएंगे। दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को मंदिर की वेबसाइट पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

मंदिर कमेटी के अनुसार सुबह सात से रात आठ बजे तक हर दिन 12 हजार श्रद्धालुओं को दर्शन करवाए जाएंगे। औसतन एक श्रद्धालु को दर्शन के लिए 20 से 30 सैकंड मिलेंगे। रविवार, एकादशी, द्वादशी को आम दर्शनार्थियों के लिए दर्शनों की व्यवस्था बंद रहेगी।

वैक्सीन की पहली डोज या 72 घंटे तक की निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट से ही एंट्री

18 घंटे पहले बुकिंग फुल

117 दिन बाद खुल रहे खाटूश्यामजी मंदिर में पहले दिन की बुकिंग बुधवार दोपहर ही फुल हो गई। हर दिन 12 हजार श्रद्धालुओं को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन दिया जा रहा है, ताकि ज्यादा भीड़ न हो। काेविड के चलते मंदिर परिसर में सोशल डिस्टेंस के लिए निर्धारित दूरी पर सर्किल बनवाए जा रहे हैं। बाबा श्याम के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं काे 75 फीट का जिग जैक पार करना होगा।

तीन चरणों में 11 घंटे में 12 हजार लोगों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होगा। मेला ग्राउंड पर बने प्वाइंट पर मोबाइल में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन दिखाना होगा। इसमें हर श्रद्धालु को वैक्सीन की पहली डोज के सर्टिफिकेट की काॅपी दिखानी हाेगी। अगर वैक्सीन नहीं लगवाई है ताे 72 घंटे पुरानी निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट दिखानी होगी। बिना मास्क के किसी भी श्रद्धालु को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

www.shrishyamdarshan.in पर कराएं रजिस्ट्रेशन

मंदिर की वेबसाइट www.shrishyamdarshan.in पर ऑनलाइन बुकिंग का लिंक मिलेगा। इसमें उम्र के अनुसार रजिस्ट्रेशन होगा। 10 साल से कम और 60 साल से ज्यादा के भक्तों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाएगा। आधार नंबर, मोबाइल नंबर, ईमेल अपडेट करना होगा। आप परिवार के साथ आ रहे हैं, तो एड मेंबर करके उनका आधार व मोबाइल नंबर देना होगा। इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन नंबर मिलेगा। जो मेला ग्राउंड पर दिखाना होगा।

मंदिर परिसर में रेलिंग लगाने के काम को अंतिम रूप देते कर्मचारी।
मंदिर परिसर में रेलिंग लगाने के काम को अंतिम रूप देते कर्मचारी।

अध्यक्ष शंभू सिंह चौहान ने बताया कि कोविड नियमों की पालना के तहत मंदिर परिसर को सेनेटाइज करवाया गया है। हर दिन चार बार मंदिर परिसर को सेनेटाइज किया जाएगा। दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को मेला ग्राउंड में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, आरटी-पीसीआर रिपोर्ट या वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना होगा। इसके बाद ही आगे प्रवेश दिया जाएगा। माला प्रसाद, दंडवत दर्शनों पर रोक रहेगी। काेराेना के चलते 27 मार्च काे बाबा श्याम के दर्शन श्रद्धालुओं के लिए बंद हाे गए थे।

खबरें और भी हैं...